भारत में नई बाइक और कारें

सुप्रीम कोर्ट ने दी 31 मार्च 2020 तक बिके BS4 वाहनों के रेजिस्ट्रेशन की इजाज़त

language dropdown

31 मार्च, 2020 के बाद बेचे जाने वाले बीएस 4 वाहन रेजिस्टर नहीं होंगे और ई-वाहन पोर्टल पर अपलोड किए गए वाहन ही रेजिस्टर हो पाएंगे.

expand फोटो देखें
लगभग 39,000 ऐसे वाहन भी हैं जो 31 मार्च 2020 से पहले बिके थे, लेकिन रेजिस्टर नहीं हो पाएंगे.

सुप्रीम कोर्ट ने आज अपने आदेश में वाहनों के डीलरों और ग्राहकों को बड़ी राहत देते हुए BS4 वाहनों के रेजिस्ट्रेशन पर लगे प्रतिबंध को हटा दिया है. हालांकि शीर्ष अदालत ने कहा कि केवल उन बीएस 4 वाहनों को रेजिस्ट्रेशन की अनुमति मिलेगी जो 31 मार्च 2020 से पहले बेचे गए थे और जिनकी जानकारी ई-वाहन पोर्टल पर अपलोड की गई थी. लगभग 39,000 ऐसे वाहन हैं जो 31 मार्च 2020 से पहले बिके थे लेकिन उनको eVahan पोर्टल पर अपलोड नहीं किया गया था.

tp1t1r94

इस साल सिर्फ 29-31 मार्च के बीच देश में 2.5 लाख से अधिक BS4 वाहन बेचे गए.

फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (FADA) का दावा है कि 12 मार्च से 31 मार्च, 2020 के बीच देश में 1.34 लाख वाहन बेचे गए थे. हालांकि, सरकारी आंकड़ों से पता चलता है कि FADA के दावों के विपरीत, इसी अवधि के दौरान 11 लाख से अधिक BS4 वाहन बिके थे. सरकारी आंकड़ों से पता चलता है कि इस साल सिर्फ 29-31 मार्च के बीच देश में 2.5 लाख से अधिक BS4 वाहन बेचे गए.

यह भी पढ़े: जुलाई 2020 में वाहनों के रेजिस्ट्रेशन में जून के मुकाबले 16 % की बढ़त, जुलाई 2019 से 36 % कम

9ibbrf3o

डीलरों की मांग थी कि 31 मई तक बेचे गए वाहनों को रेजिस्ट्रेशन की अनुमति मिले

0 Comments

सुनवाई के दौरान न्यायमूर्ति अरुण मिश्रा ने डीलरों के वकील के वी विश्वनाथन के कहा, "क्या यह अदालत से धोखाधड़ी नहीं है कि आप कह रहे थे कि लॉकडाउन के दौरान बिक्री नहीं होगी और फिर इसी समय सबसे ज़्यादा वाहन बिके हैं?" विश्वनाथ ने स्पष्ट करने का प्रयास किया कि छूट जैसे विभिन्न तरीकों को वाहन बेचने के लिए अपनाया गया क्योंकि कंपनियों ने स्टॉक वापस लेने से इनकार कर दिया था. उन्होंने 31 मई तक बेचे गए वाहनों के रेजिस्ट्रेशन की अनुमति देने के लिए अदालत से गुहार लगाई जिसे मानने से कोर्ट ने इनकार कर दिया.

लेटेस्ट न्यूज़