भारत में नई बाइक और कारें

कोरोनावायरस: सैंपल लेने के लिए भारत की पहली ड्राइव थ्रू सेवा शुरू

परीक्षण की लागत 4,500 रुपये रखी गई है 36 घंटों के भीतर आपके ई-मेल पर नतीजा आ जाएगा

फोटो देखें
रोगी को परीक्षण के दौरान अपनी कार में रहना होगा; पूरी प्रक्रिया में लगभग 15 मिनट लगेंगे

दिल्ली की एक निजी लैब देश में पहली एसी सुविधा बन गई है जो संदिग्ध कोरोनावायरस रोगियों के लिए सैंपल कलेक्शन सेवाएं प्रदान कर रही है, वो भी मरीजों के अपने वाहनों से बिना बाहर निकले. पश्चिम पंजाबी बाग में डॉ डैंग्स लैब को हाल ही में सरकार द्वारा महामारी के चलते टेस्ट करने के लिए अधिकृत किया गया था और अब ये सुविधा ड्राइव थ्रू के माध्यम से की भी शुरू की गई है. इस तरह से सैंपल देने के इच्छुक को किसी अन्य व्यक्ति के पास जाने का न्यूनतम जोखिम होगा और सामाजिक दूरी बरकरार रखकर वो सैंपल दे पाएगा.

लैब ने नियमों के एक सेट के अपनी वेबसाइट पर सांझा किया है ताकि कोई गड़बड़ न हो  का इसका एक उपयुक्त तरीके से पालन किया जा सके. परीक्षण के लिए बुकिंग ऑनलाइन करने की आवश्यकता है और साथ ही डॉक्टर का पर्चा और एक सरकारी पहचान पत्र भी जमा करना होगा. लैब से एक फोन कॉल ही यह सुनिश्चित करेगा है कि आपका अनुरोध मान लिया गया है. यह भी स्पष्ट रूप से उल्लेख किया गया है कि केवल निजी मोटर वाहन को आने की अनुमति है और मरीज कैब, स्कूटर से या पैदल नहीं आ सकते हैं. उन्हें केवल कार के दाईं साइड की तरफ ही बैठाया जा सकता है.

pgnopg5g

सुरक्षित और स्वच्छ टेस्ट करने के लिए सख्त सुरक्षा नियमों का पालन किया जा रहा है 

0 Comments

कोरोनावायरस के नमूने एकत्र करने की एसी सुविधा से दुनिया भर के कई देशों में फायदा हुआ है क्योंकि यह सामाजिक दूरी बनाए रखने की गारंटी देता है. डॉ डैंग्स लैब का कहना कि यहां पर भी एक सुरक्षित और स्वच्छ तरीके से सख्त सुरक्षा प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है. परीक्षण की लागत 4,500  रुपये रखी गई है 36 घंटों के भीतर आपके ई-मेल पर नतीजा आ जाएगा.