carandbike logo

महाराष्ट्र के ऑटो डीलरों ने 250 ऑक्सीजन टैंकरों में जीपीएस लगाने के लिए जुटाए ₹ 10 लाख

language dropdown

FADA महाराष्ट्र का कहना है कि वह 250 ऑक्सीजन टैंकरों में जीपीएस उपकरणों को लगाएगी, जो परिवहन विभाग को एक ही डैशबोर्ड पर इनकी निगरानी करने में मदद करेगा.

रु. 10 लाख का उपयोग जीपीएस उपकरणों की खरीद के लिए किया गया है. expand फोटो देखें
रु. 10 लाख का उपयोग जीपीएस उपकरणों की खरीद के लिए किया गया है.

कोरोनावायरस की दूसरी लहर के खिलाफ लड़ाई में राज्य के परिवहन विभाग को अपना समर्थन देने के लिए फेडरेशन ऑफ ऑटोमोबाइल डीलर्स एसोसिएशन (एफएडीए) महाराष्ट्र ने रु 10 लाख जुटाने की घोषणा की है. इस रक्म से 250 ऑक्सीजन टैंकरों को जीपीएस उपकरणों से लैस किया जाएगा जो परिवहन विभाग को एक ही डैशबोर्ड से इन पर निगरानी रखने में मदद करेगा. FADA महाराष्ट्र द्वारा इस रु 10 लाख का उपयोग जीपीएस उपकरणों की खरीद के लिए किया गया है.

20qanvbo

इस सप्ताह से ऑक्सीजन टैंकरों में उपकरणों की फिटिंग शुरू कर दी गई है.

फाडा महाराष्ट्र का कहना है कि उसने पहले ही जीपीएस उपकरणों के लिए ऑर्डर दे दिया था, और उसने इस सप्ताह से ऑक्सीजन टैंकरों में उपकरणों की फिटिंग शुरू कर दी है. FADA के स्टेट चेयरपर्सन, अमर जतिन शेठ ने कहा, "यह तकनीक के माध्यम से टैंकरों को बहतर व्यवस्था देकर राज्य के लिए योगदान करने का अवसर था." महाराष्ट्र के परिवहन आयुक्त डॉ. अविनाश धकाने ने एसोसिएशन द्वारा किए गए योगदान की सराहना की. उन्होंने यह भी कहा कि जीपीएस उपकरणों के साथ ऑक्सीजन टैंकर जल्दी वापस आने में सक्षम होंगे और ज़्यादा जीवन बचाने में मदद करेंगे.

यह भी पढ़ें: कोरोना के बीच मुंबई में 'दि फ्यूल डिलेवरी' आपके घर तक पहुंचाएगा डीज़ल

0 Comments

फाडा इंडिया के अध्यक्ष विंकेश गुलाटी ने कहा, "इस महामारी की दूसरी लहर के दौरान FADA को महाराष्ट्र राज्य प्रशासन के हाथों को मज़बूत करने का मौका मिला. हमने पूरी कोशिश की है कि परिवहन विभाग को ऑक्सीजन की निगरानी में सक्षम बनाने की दिशा में योगदान किया जा सके. एक ही डैशबोर्ड पर टैंकरों की निगरानी निश्चित रूप से समय पर ऑक्सीजन पहुंचाकर रोगियों के जीवन को बचाने में मदद करेगी."

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

नाइ कार मॉडल्स

Be the first one to comment
Thanks for the comments.