भारत में नई बाइक और कारें

सरकार ने पास किया 2,500 इलैक्ट्रिक बसों का टेंडर, ज़्यादातर भारत में बनी होंगी

language dropdown

इलैक्ट्रिक वाहनों को अपनाया जाए इसके लिए सरकार काफी काम कर रही है और मौजूदा दौर पर ध्यान इलैक्ट्रिक बसों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर केंद्रित किया है.

फेम स्कीम के दूसरे दौर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को इलैक्ट्रिक बनाने का काम किया जाने वाला है expand फोटो देखें
फेम स्कीम के दूसरे दौर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को इलैक्ट्रिक बनाने का काम किया जाने वाला है

तेज़ी से इलैक्ट्रिक वाहनों को अपनाया जाए इसके लिए सरकार काफी काम कर रही है और मौजूदा दौर पर अपना ध्यान इलैक्ट्रिक बसों और पब्लिक ट्रांसपोर्ट पर केंद्रित किया है. केंद्रा और राज्य सरकारें अपने ट्रांसपोर्ट विभाग में इलैक्ट्रिक बसों को शामिल करने का प्रयास कर रही हैं और फास्टर अडॉप्शन एंड मैन्युफैक्चरिंग ऑफ इलैक्ट्रिक व्हीकल्स या फेम स्कीम के दूसरे दौर में पब्लिक ट्रांसपोर्ट को इलैक्ट्रिक बनाने का काम किया जाने वाला है. भारत सरकार ने इसके लिए 2,500 इलैक्ट्रिक बसों का टेंडर पास कर दिया है और इनमें से अधिकांश बसें मेड इन इंडिया होंगी.

1gqi95joइनमें से अधिकांश इलैक्ट्रिक बसें मेड इन इंडिया होंगी

सोसायटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) के 60वें वार्षिक सम्मेलन में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि भारतीय निर्माता उम्दा गुणवत्ता की इलैक्ट्रिक बसों की मांग पूरी करने में सक्षम हैं. इलैक्ट्रिक वाहनों की बात करें तो आत्म निर्भर भारत की ओर एक और कदम बढ़ाते हुए सरकार घरेलू निर्माताओं बड़ा मौका देना चाहती है. इलैक्ट्रिक मोबिलिटी के अलावा भारत सरकार ऑटोमोबाइल जगत की मदद भी करना चाहती है जिसके अंतर्गत निर्यात पर इंसेंटिव दिया जाएगा, क्योंकि भारतीय ऑटो बाज़ार में निर्यात को लेकर संभावनाएं काफी हैं और इसे आगे बढ़ाया जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें : जल्द किया जाएगा स्क्रैपेज पॉलिसी का ऐलानः केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर

dc981cskराज्य सरकारें अपने ट्रांसपोर्ट विभाग में इलैक्ट्रिक बसों को शामिल करने का प्रयास कर रही हैं
0 Comments

सड़क परिवहन और हाईवे मंत्री नितिन गडकरी काफी समय से इलैक्ट्रिक बसों को बढ़ावा देने का काम कर रहे हैं और पिछले महीने ही उन्होंने एक पायलेट प्रोजैक्ट के अंतर्गत निजी निवेशकों से निवेश करने की अपील की थी. इसके अलावा हेवी इंडस्ट्रीज़ और इसके पब्लिक इंटरप्राइज़ेस विभाग ने फेम 2 स्कीम की अवधि को बढ़ाकर 3 महीने आगे कर दिया है. अब इस स्कीम के अंतर्गत सभी रजिस्टर्ड निर्माताओं को  30 सितंबर 2020 तक इस स्कीम का फायदा मिलता रहेगा.

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

नाइ कार मॉडल्स

बीएमडब्ल्यू 2 सीरीज़ ग्रैन कूपे
प्राइस स्टार्टस
₹ 39.3 - 41.4 लाख
emi स्टार्टस
₹ 81,580 9% / 5 yrs
लैंड रोवर डिफेंडर
प्राइस स्टार्टस
₹ 73.98 - 90.46 लाख
emi स्टार्टस
₹ 1,53,570 9% / 5 yrs

एमजी ग्लॉस्टर

एसयूवी, 12.35 Kmpl
एमजी ग्लॉस्टर
प्राइस स्टार्टस
₹ 28.98 - 35.38 लाख
emi स्टार्टस
₹ 60,158 9% / 5 yrs
मर्सिडीज़-बेंज़ ईक्यूसी
प्राइस स्टार्टस
₹ 1 करोड़
emi स्टार्टस
₹ 2,06,130 9% / 5 yrs

महिंद्रा थार

एसयूवी, 13 - 15.2 Kmpl
महिंद्रा थार
प्राइस स्टार्टस
₹ 9.8 - 13.75 लाख
emi स्टार्टस
₹ 20,343 9% / 5 yrs

टोयोटा अर्बन क्रूजर

एसयूवी, 17.03 - 18.76 Kmpl
टोयोटा अर्बन क्रूजर
प्राइस स्टार्टस
₹ 8.4 - 11.3 लाख
emi स्टार्टस
₹ 17,437 9% / 5 yrs

किया सॉनेट

एसयूवी, 18.2 - 24.1 Kmpl
किया सॉनेट
प्राइस स्टार्टस
₹ 6.71 - 11.99 लाख
emi स्टार्टस
₹ 13,929 9% / 5 yrs

ऑडी आरएस क्यू8

एसयूवी, 8.2 Kmpl
ऑडी आरएस क्यू8
प्राइस स्टार्टस
₹ 2.07 करोड़
emi स्टार्टस
₹ 4,29,698 9% / 5 yrs
Be the first one to comment
Thanks for the comments.