भारत में नई बाइक और कारें

बदले गए हेल्मेट सुरक्षा नियम; आयात किए हुए हेल्मेटों को बिक्री की अनुमति

language dropdown

भारतीय मानक ब्यूरो ने 2018 में लागू किए गए हेल्मेटों पर 1.2 किलोग्राम वज़न की सीमा को हटा दिया है, जिससे प्रीमियम हेल्मेट अब बाज़ार में बिक सकते हैं.

expand फोटो देखें
यह भारी हेल्मेट विकसित बाजारों में अनिवार्य अधिक सुरक्षा मानदंडों को पूरा करते हैं.

भारतीय मानक ब्यूरो (BIS) ने 4 सितंबर, 2020 से दोपहिया हेलमेट मानकों के लिए एक नई अधिसूचना जारी करेगा. हाल ही में आई एक रिपोर्ट के अनुसार, नए मानदंडों में हेलमेट के लिए 1.2 किलोग्राम भार की सीमा को बदला जाएगा, जिसको 2018 में लागू किया गया था. इस नियम ने भारत में आयात किए जाने वाले हेल्मेटों की बिक्री को प्रतिबंधित कर दिया था. इन हेल्मेटों पर ISI मार्क नहीं होता था और बीआईएस मानदंडों के हिसाब से यह काफी भारी होते थे. लेकिन अब संशोधित नियम ऐसे हेलमेट की बिक्री की अनुमति देंगे.

im680ng8

प्रीमियम मोटरसाइकिलों की लोकप्रियता को देखता हुए आयात किए हुए हेल्मेट की मांग बढ़ने की उम्मीद है

बीआईएस ने पहले भारत में बेचे जाने वाले हेलमेट पर 700 ग्राम से 1.2 किलोग्राम तक के वजन की सामा की घोषणा की थी, साथ ही आईएसआई चिह्न का भी की आवश्यकता थी. परिवहन मंत्रालय द्वारा परीक्षण नियमों में बदलाव के बाद नियम लागू किया गया था और इसका उद्देश्य सस्ते और हल्के हेलमेट की बिक्री पर अंकुश लगाना था, जो किसी तरह की सुरक्षा नहीं देते थे. लेकिन इससे आयात किए जाने वाले अधिक महंगे और सुरक्षित हेलमेट भी नहीं बिक पा रहे थे क्योंकि उनका वजन 1.2 किलोग्राम से ज़्यादा था.

यह भी पढ़ें: रंग न पहचानने वालों को ड्राइविंग लाइसेंस मिलना हुआ आसान

0 Comments

भारत में बेचे जाने वाले आयातित हेलमेटों की संख्या प्रति वर्ष एक लाख यूनिट से कम है लेकिन प्रीमियम मोटरसाइकिलों की लोकप्रियता बढ़ने और सुरक्षित के प्रति जागरूकता बढ़ने के साथ इस आंकड़े में भारी वृद्धि की उम्मीद है. इस वर्ष की शुरुआत में, यूएन बॉडी जो यूरोप में मोटरसाइकिल हेलमेट के लिए सुरक्षा मानकों को निर्धारित करती है, ने भी नियमों में बदलाव की घोषणा की थी जिनको 2023 लागू किया जाएगा.

लेटेस्ट न्यूज़

Be the first one to comment
Thanks for the comments.