भारत में नई बाइक और कारें

हीरो मोटोस्पोर्ट्स टीम रैली की नई डिजिटल पहल

language dropdown

‘रैली लाइफ नेविगेटर’ का मकसद है रैली के खेल के चाहने वालें को स्टेज के अंदर सटीक रास्ते ढ़ूंढने के तरीके ऑनलाइन माध्यम से सिखाना.

expand फोटो देखें
अभियान लोगों को दुनिया की सबसे चुनौतीपूर्ण रैलियों में डिजिटल माध्यम से ले जा रहा है.

कोरोनावायरस महामारी की वजह से दुनिया भर में खेल की सभी प्रमुख कार्यक्रम थम गए हैं. इसमें मोटरस्पोर्ट इवेंट भा शामिल हैं जिसमें ट्रैक रेसिंग और क्रॉस कंट्री रैली दोनो आते हैं. अब हीरो मोटोस्पोर्ट्स टीम रैली ने एक डिजिटल पहल शुरू की है, जिसका उद्देश्य रैली के चाहने वाले लोगों को नेविगेशन के सभी पहलुओं के बारे में बताना है. "रैली लाइफ नेविगेटर" रैली की स्टेज में रास्ता बताने वाली रोड बुक ठीक तरह से पढ़ना सिखाता है. इसमें हिस्सा लेने वाले अपने घरों की चारदीवारी से ही डिजिटल रूप से दुनिया भर के सबसे कठिन रैली स्थलों तक पहुंच जाते हैं.

nb25kih

लॉन्च के बाद से विश्व भर में लगभग 1,000 लोग इस पहल का हिस्सा बन चुके हैं.

हीरो मोटोस्पोर्ट्स टीम रैली के हैड वोल्फगैंग फिशर ने कहा, “पहल ट्यूटोरियल वीडियो के साथ मोटरस्पोर्ट्स के चाहने वाले लोगों की डिजिटल मैपिंग के ज़रिए नेविगेशन सीखने में सहायता करती है. हमें यकीन है कि यह चुनौती न केवल लोगों को रैली के बाइक सवार का नज़रिया देगी, बल्कि वास्तविक रैली का अनुभव करने की उनकी चाह भी बनाएगी.”

यह भी पढ़ें: कोरोनावायरस महामारी: हीरो मोटोकॉर्प ने 60 मोबाइल एम्बुलेंस बनाईं

0 Comments

अभियान हिस्सेदारों को दुनिया के कुछ सबसे चुनौतीपूर्ण रैली स्थलों में ले जा रहा है. पहली चुनौती दक्षिण अमेरिका के पैराग्वे में हुई जहां विश्व की सबसे कठिन रैली डकार में 89 किलोमीटर के लिए तेज़ रफ़्तार से बाइक्स चलीं. अगला नंबर था उत्तरी अफ्रीकी देश मोरक्को के मुश्किल रास्तों का जहां 105 किलोमीटर की दूरी तय की गई. अंत में राइडर आए जैसलमेर के रेगिस्तान में जहां रेत के टीलों के बीच डेज़र्ट स्टॉर्म रैली के 92 किलोमीटर पूरे किए गए. अब तक हीरो मोटोस्पोर्ट्स टीम रैली की इस पहल में दुनिया भर के लगभग 1,000 लोग हिस्सा ले चुके हैं.

लेटेस्ट न्यूज़