भारत में नई बाइक और कारें

जावा और जावा 42 BS6 की डिलिवरी शुरू हुई, इंजन क्षमता में मामूली बदलाव

language dropdown

क्लासिक लैजेंड्स प्राइवेट लिमिटेड ने बीएस6 इंजन वाली जावा और जावा 42 को देशभर की डीलरशिप के ज़रिए ग्राहकों के सुपुर्द करना शुरू कर दिया है.

expand फोटो देखें
जावा और जावा फोर्टी-टू के साथ 293 सीसी इंजन दिया गया है

क्लासिक लैजेंड्स प्राइवेट लिमिटेड ने बीएस6 इंजन वाली जावा और जावा फोर्टी-टू देशभर की डीलरशिप के ज़रिए ग्राहकों के सुपुर्द करना शुरू कर दिया है. जावा और जावा फोर्टी-टू के साथ 293 सीसी, लिक्विड-कूल्ड, सिंगल-सिलेंडर, डुअल ओवरहेड कैम इंजन दिया गया है. जावा मोटरसाइकिल अब भारत की पहली मोटरसाइकिल बन गई हैं जिनके साथ क्रॉस पोर्ट तकनीक दी गई है जो ट्विन एग्ज़्हॉस्ट को अलग पहचान देती है. जावा ने मार्च 2020 में बीएस6 मॉडल्स की कीमतों का ऐलान कर दिया था और इनमें 5,000 रुपए से लेकर 9,928 रुपए तक इज़ाफा किया गया है. कंपनी का कहना है कि लागत मूल्य में तेज़ी से हुई बढ़ोतरी की वजह से कीमतों को बढ़ाना पड़ा है.

5h3v8vgcजावा और जावा फोर्टी-टू ग्राहकों के सुपुर्द करना शुरू कर दिया है

जावा मोटरसाइकिल ने दोनों मोटरसाइकिल में समान क्षमता वाला बीएस6 इंजन लगाया है जो 293सीसी का है. ये सिंगल-सिलेंडर इंजन लिक्विड-कूल्ड तकनीक के साथ आता है और अब 26.14 बीएचपी पावर और 27.05 एनएम पीक टॉर्क जनरेट करता है. बता दें कि बीएस4 मॉडल के मुकाबले नई बाइक में लगा इंजन मामूली रूप से कम पावर के साथ आया है, बीएस4 मॉडल में लगा इंजन 27 बीएचपी पावर और 28 एनएम पीक टॉर्क जनरेट करता है. इसके अलावा बीएस4 मॉडल के मुकाबले बीएस6 बाइक की वज़न 2 किग्रा बढ़ गया है जिससे इसका कुल भार 172 किग्रा हो गया है.

ये भी पढ़ें : जावा ने शुरू की पेराक बॉबर मोटरसाइकिल की डिलिवरी, मिलेगा ज़्यादा टॉर्क

7uaj7gukबीएस4 मॉडल के मुकाबले नई बाइक में लगा इंजन मामूली रूप से कम पावर के साथ आया है
0 Comments

जावा डीलरशिप को दोबारा भारत में काम शुरू किए लगभग 2 महीने से ज़्यादा समय हो चुका है. कोरोना वायरस महामारी से अपने कर्मचारियों और ग्राहकों को सुरक्षित रखने के लिए जावा मोटरसाइकिल ने अपनी सभी डीलरशिप को सरकार और स्थानीय प्रशासन द्वारा जारी सभी आवश्यक गाइडलाइन्स का सख़्ती से पालन करने की ट्रेनिंग दी गई है. पिछले कुछ महीने भारतीय ऑटो इंडस्ट्री के लिए बहुत ही कठिन रहे हैं, लेकिन जैसे-जैसे बाज़ार खोलने की ढील मिल रही है, वैसे-वैसे ऑटो सैक्टर दोबारा पटरी पर आता नज़र आ रहा है.

लेटेस्ट न्यूज़