carandbike logo

केटीएम अपने बड़े और अधिक शक्तिशाली मॉडल भारत में पेश नहीं करेगा

जबकि केटीएम भारत में बड़ी बाइक पेश करने की योजना नहीं बना रहा है, बजाज ऑटो के सीईओ ने कहा कि अगर केटीएम उन्हें भारत में लाने का फैसला करती है तो कंपनी बड़े मॉडल को असेंबर करने के लिए तैयार होगी.

केटीएम अपने बड़े और अधिक शक्तिशाली मॉडल भारत में पेश नहीं करेगा expand फोटो देखें

केटीएम ने हाल ही में भारत में 10 लाख मोटरसाइकिल का प्रोडक्शन कर एक नया मील का पत्थर पार किया है. केटीएम ने 2007 में बजाज ऑटो के साथ संयुक्त रूप से भारत में छोटी क्षमता वाली मोटरसाइकिल का विकास और निर्माण करने और फिर उन्हें निर्यात करने के लिए साझेदारी की और 2011 में प्रोडक्शन शुरू होने के बाद से, उत्पादित वाहनों का लगभग आधा हिस्सा दुनिया भर के 118 देशों को निर्यात किया गया है.

यह भी पढ़ें: KTM अगले 2 साल में यूरोप में चेतक इलेक्ट्रिक स्कूटर की बिक्री शुरु करेगी

KTM
1290 सुपरड्यूक आर जैसे बड़ी क्षमता वाले केटीएम कभी भी केटीएम इंडिया की पेशकश का हिस्सा नहीं हो सकते हैं

जबकि केटीएम भारत में 125 सीसी से 373 सीसी (390 सीरीज़) तक की मोटरसाइकिल बनाती है, पियरर मोबिलिटी एजी (केटीएम की मूल कंपनी) के सीईओ स्टीफन पियरर ने कहा कि केटीएम जल्द ही भारत में बड़ी बाइक पेश नहीं कर सकती है. केटीएम ने 2022 इंडिया बाइक वीक में कुछ बड़ी क्षमता वाली मोटरसाइकिलों को प्रदर्शित किया और जबकि उनमें से कुछ सिर्फ पेश की गई थीं, केटीएम 890 एडवेंचर आर, और 790 ड्यूक सहित कुछ चुनिंदा मॉडलों में सार्वजनिक रुचि का अनुमान लगा रहा था. 790 ड्यूक वास्तव में कुछ साल पहले भारत में भी बेची गई थी, लेकिन बीएस6 उत्सर्जन मानदंड आने पर सीबीयू आयात मॉडल को बाद में बंद कर दिया गया था और इसे फिर से पेश नहीं किया गया था. इसलिए, यह भारत में 890 एडवेंचर आर जैसे मॉडल पेश नहीं कर सकती है.

2023केटीएम ने दर्शकों की रुचि को मापने के लिए 2022 इंडिया बाइक वीक में 890 एडवेंचर आर का प्रदर्शन किया था

स्टेफिन पियरर का कहना है कि केटीएम भारत में सबसे कम उम्र के खरीदारों को लक्षित कर रहा है, यही वजह है कि ऑस्ट्रियाई ब्रांड यहां कोई बड़ी क्षमता वाले मॉडल पेश नहीं कर रही है. ऐसी भी खबरें थीं कि 490 सीरीज पैरेलल-ट्विन इंजन का विकास किया जा रहा है, लेकिन केटीएम ने इसके लिए भी योजना रद्द कर दी है. हालांकि यह अफवाह है कि अभी काम के तहत 690 प्लेटफॉर्म है, जो अंतरराष्ट्रीय बाजारों में 390 और 790 प्लेटफॉर्म के बीच के अंतर को भर देगा, लेकिन यह अज्ञात है कि यह भारत में कब तक पहुंचेगी और पहुंचेगी भी या नहीं. हालांकि, बजाज ऑटो के सीईओ राजीव बजाज ने कहा कि अगर केटीएम उन्हें हमारे बाजार में लाना चाहता है तो बजाज उच्च क्षमता वाली मोटरसाइकिलों को असेंबल करने के लिए तैयार है.

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

नाइ कार मॉडल्स

Be the first one to comment
Thanks for the comments.