भारत में नई बाइक और कारें

लैंबॉर्गिनी सिआन रोड्सटर हाईब्रिड से हटा पर्दा, 2.8 सेकंड में 100 किमी/घंटा रफ्तार

language dropdown

लैंबॉर्गिनी हमेशा अपनी शानदार और तेज़रफ्तार कारों से ग्राहकों को बेहद पसंद आती है और इस बार कंपनी ने अपनी पहली हाईब्रिड कन्वर्टिबल सुपरकार पेश की है.

expand फोटो देखें
इस बार लैंबॉर्गिनी ने अपनी पहली हाईब्रिड कन्वर्टिबल सुपरकार पेश की है

लैंबॉर्गिनी हमेशा ही अपनी शानदार और तेज़रफ्तार कारों से ग्राहकों को बेहद पसंद आती रही है और इस बार कंपनी ने अपनी पहली हाईब्रिड कन्वर्टिबल सुपरकार पेश की है. पिछले साल फ्रैंकफर्ट मोटर शो में दिखी लैंबॉर्गिनी सिआन कूप ने अपनी बेहद पैनी डिज़ाइन के साथ सभी दर्शकों को अपनी ओर आकर्षित किया बल्की इसके कन्वर्टिबल मॉडल को लोग देखते ही रह गए. शानदार रूपरेखा वाली इस कार को आकर्षक बनाने के लिए इसकी कैरेक्टर लाइन्स को बेहतर तरीके से उपयोग में लाया गया है. इसकी बॉडी पर कार्बन फाइबर का इस्तेमाल किया गया है और पिछले हिस्से में लगी कार्बन फाइबर विंग से कार के इंजन को भी देखा जा सकता है. बेहद तेज़रफ्तार इस कार के एयरोडायनामिक्स पर भी कंपनी ने काफी काम किया है जिससे सड़क पर पकड़ बनी रहे.

99didhp8लैंबॉर्गिनी सिआन कूप से तुलना करें तो कार का कॉकपिट मिलता-जुलता है

लैंबॉर्गिनी सिआन कूप से तुलना करें तो कार का कॉकपिट मिलता-जुलता है जिसमें डिजिटल कन्फिगरेबल इंस्ट्रुमेंट क्लस्टर और रेक्ड सेंट्रल कंसोल से जुड़ा हुआ टचस्क्रीन शामिल है जो ये दिखाता है कि ये टचस्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम लैंबॉर्गिनी ने इन-हाउस डिज़ाइन किया है. एयर वेंट्स 3डी प्रिंट वाले हैं जिन्हें ग्राहक की मांग पर बदला जा सकता है. यहां तक कि कार के पूरे कॉकपिट को अपनी पसंद के हिसाब से बदला जा सकता है जिसमें अपहोल्ट्री और इसमें उपयोग होने वाले मटेरियर शामिल हैं, इसकी मदद से लैंबॉर्गिनी ने सिआन रोड्सटर को बिल्कुल अलग, खास और एक्सक्लूसिव लुक दिया है ताकि सिर्फ 19 यूनिट तक सीमित ये कार बिल्कुल अलग दिखाई दे, बता दें कि सभी 19 कारें बिक चुकी हैं.

लैंबॉर्गिनी

लैंबॉर्गिनी कारें

fo7lg4ugपिछले हिस्से में लगी कार्बन फाइबर विंग से कार के इंजन को भी देखा जा सकता है

लैंबॉर्गिनी की ये पहली हाईब्रिड कार है जिसमें एसवीजे से लिया गया 6.5-लीटर नेचुरली एस्पिरेटेड वी12 इंजन लगाया गया है जो 48-वोल्ट माइल्ड हाईब्रिड सिस्टम से लैस है. ये इंजन 8500 आरपीएम पर कुल 808 बीएचपी पावर जनरेट करता है जिसमें हाईब्रिड सिस्टम से मिला 33 बीएचपी पावर शामिल है. ये तेज़ रफ्तार कार महज़ 2.8 सेकंड में ही 0-100 किमी/घंटा रफ्तार पकड़ लेती है और ये अबतक की सबसे तेज़ रफ्तार लैंबॉर्गिनी है जिसकी टॉप स्पीड 350 किमी/घंटा है. कार में लीथियम-आयन बैटरी पैक की जगह सुपरकैपेसिटर लगाया गया है जिसकी मदद से ये बैटरी बैटरी से तीन गुना ज़्यादा दमदार होती है.

ये भी पढ़ें : 2020 ऑडी RS7 स्पोर्टबैक के लॉन्च की जानकारी आई सामने, ₹ 10 लाख बुकिंग राषि

bjv2kh58दुनियाभर में बेचने के लिए सिर्फ 19 कारें बनाई गई थीं जो सभी बिक चुकी हैं
0 Comments

इस कार को पल भर में पर्याप्त बैटरी पावर मिल जाती है और इसकी मदद से पार्किंग के अलावा कार रिवर्स करने की दशा में कफी कम रफ्तार मिलती है. इसके साथ ही गियर बदलते वक्त ये बैटरी पावर कार को बिना किसी रुकावट के आगे बढ़ाता रहता है. कार में हर बार ब्रेक लगने पर ये सुपरकैपेसिटर चार्ज होता है. कार की बैटरी से ये कार 130 किमी/घंटा रफ्तार तक पहुंचती है जिसके बाद इंजन अपना काम करना शुरू करता है. एसवीजे की तुलना में सिआन 30-60 किमी/घंटा रफ्तार पर 0.2 सेकंड तेज़ है, वहीं 70-120 किमी/घंटा रफ्तार 1.2 सेकंड तेज़ी से पकड़ती है. इतने दमदार इंजन के हिसाब से कार में ज़ोरदार कूलिंग सिस्टम भी दिया गया है जो पिछले हिस्से में लगाया गया है और पेटेंट उत्पाद से बना है.

कम्पेयर लैंबॉर्गिनी उरस मौजूदा प्रतिद्वंदियों के साथ

लेटेस्ट न्यूज़

Be the first one to comment
Thanks for the comments.