भारत में नई बाइक और कारें

लॉकडाउन के बीच फंसे प्रवासियों को घर पहुंचाने में मदद करेगी महिंद्रा

कंपनी फंसे प्रवासियों की वापसी यात्रा को आसान बनाने के लिए यूपी, बिहार और ओडिशा में अधिकारियों के साथ सहयोग कर रही है

expand फोटो देखें
महिंद्रा 139 जिलाधिकारियों के साथ मिलकर प्रक्रिया को तेज़ करने में मदद करेगी.

ऑटोमोटिव दिग्गज महिंद्रा एंड महिंद्रा एक बार फिर एक ऐसा समाधान लेकर आई है, जो ऐसे लोगों के दर्द को कम करने में मदद करेगा है, जो किसी न किसी तरह से कोरोनवायरस महामारी से प्रभावित हैं. कंपनी अब तक वेंटिलेटर, एयरोसोल बॉक्स और फेस शील्ड जैसे उपकरण बनाने पर ध्यान दे रही थी ताकि चिकित्सा अधिकारियों को उनकी काम में मदद मिल सके. अब इसने उन लोगों की मदद करने के लिए भी अपना ध्यान केंद्रित किया है जो देश के अलग-अलग हिस्सों में अपने घर वापस जा रहे हैं.

यह भी पढ़ें: कोरोनावायरस: महिंद्रा के हाई-स्पेक वेंटिलेटर प्रोडक्शन के लिए तैयार

umbdoko

महिंद्रा ऑटोमोटिव और ट्रैक्टर डीलरों ने प्रक्रिया को सुविधाजनक बनाने की पेशकश की है.

कंपनी ने कहा है कि वह अपने मोटर वाहन और ट्रैक्टर डीलर भागीदारों के माध्यम से महामारी के दौरान घर वापस आने वाले लोगों के लिए सहायता प्रदान करने का काम करेगी. यह उत्तर प्रदेश, बिहार और ओडिशा में किया जाएगा. महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड के ऑटो और फार्म सेक्टर के कार्यकारी निदेशक राजेश जेजुरिकर ने ट्विटर पर जानकारी साझा करते हुए कहा कि कंपनी इस प्रक्रिया को सुचारू बनाने के लिए इन तीन राज्यों में 139 जिला मजिस्ट्रेटों के साथ सहयोग करेगी. उन्होंने इस काम के लिए अपने डीलर भागीदारों को धन्यवाद दिया.


महिंद्रा समूह के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा ने भी प्रशंसा व्यक्त की और कॉल का जवाब देने के लिए अपने सहयोगियों को धन्यवाद दिया. उन्हें संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, "हम सारे पहलुओं को देख रहे हैं, लेकिन तात्कालिक समस्याओं पर पहले काम करने की जरूरत है. हम इस बात पर ध्यान दें कि अपने डीलर समुदाय के साथ, प्रवासियों को उनकी मंज़िल तक कैसे पहुंचाया जाए"

0 Comments


देश भर में लगे लॉकडाउन कारण लाखों प्रवासी अपने मूल स्थानों पर वापस पैदल जा रहे हैं जिनमे कई तो हजारों किलोमीटर दूर हैं. महिंद्रा और उसके डीलर भागीदारों की यह पहल निश्चित रूप से ऐसे कई लोगों के दर्द को कम करने में मदद करेगी क्योंकि प्रवासियों को उनकी मंज़िलों तक पहुंचने की सुविधा मिलेगी.

लेटेस्ट न्यूज़