carandbike logo

महिंद्रा ट्रेओ ज़ोर इलेक्ट्रिक तीन-पहिया की 1,000 यूनिट भारतीय बाज़ार में बिकीं

language dropdown

महिंद्रा एंड महिंद्रा ने आधिकारिक तौर पर ऐलान किया है कि कंपनी ने भारतीय बाज़ार में प्रचलित ट्रेओ ज़ोर इलेक्ट्रिक तीन-पहिया की 1,000 यूनिट बेच ली हैं.

पूरा ट्रेओ प्लैटफॉर्म भारत में डिज़ाइन और डेवेलप किया गया है expand फोटो देखें
पूरा ट्रेओ प्लैटफॉर्म भारत में डिज़ाइन और डेवेलप किया गया है

महिंद्रा एंड महिंद्रा ने आधिकारिक तौर पर ऐलान किया है कि कंपनी ने भारतीय बाज़ार में प्रचलित ट्रेओ ज़ोर इलेक्ट्रिक तीन-पहिया की 1,000 यूनिट बेच ली हैं. कंपनी का कहना है कि ट्रेओ ज़ोर लॉन्च होने के 6 महीनों में ही सेगमेंट का लीडिंग इलेक्ट्रिक मालवाहक बन गया है. इस वाहन ने श्रेणी के 59 प्रतिशत शेयर्स अपने नाम कर लिए हैं. इलेक्ट्रिक तीन-पहिया का कार्गो वर्जन पिछले साल अक्टूबर में लॉन्च किया गया था जिसे पेश करने का लक्ष्य अंतिम मील तक इलेक्ट्रिक वाहन ने सामान पहुंचाना है.

mgdot54sइलेक्ट्रिक तीन-पहिया का कार्गो वर्जन पिछले साल अक्टूबर में लॉन्च किया गया था

महिंद्रा ऑटोमोटिव ने यह घोषणा भी की है कि ट्रेओ ज़ोर तीन-पहिया रेन्ज की 8,000 यूनिट कंपनी बेचने में सफल रही है. महिंद्रा इलेक्ट्रिक का पूरा ट्रेओ प्लैटफॉर्म भारत में डिज़ाइन और डेवेलप किया गया है और यह कंपनी के इलेक्ट्रिक पोर्टफोलियो का सबसे नया वाहन है. कंपनी का कहना है कि ट्रिओ के ग्राहक एक बार फुल चार्ज करने पर इसे 265 किलोमीटर तक चला सकते हैं और यह आसानी से कहीं भी चार्ज किया जा सकता है.

tl3is0scकंपनी का कहना है कि ट्रिओ को एक बार फुल चार्ज करने पर 265 किलोमीटर तक चला सकते हैं

महिंद्रा इलेक्ट्रिक के एमडी और सीईओ, महेश बाबू ने कहा कि, “ट्रेओ ज़ोर महिंद्रा के लिए और खासतौर पर हमारे ग्राहकों के लिए एक गेम चेंजर बन गया है जिन्होंने कंपनी के साथ मिलकर यातायात को इलेक्ट्रिक रूप में बदलने की ज़िम्मेदारी उठाई है. ग्राहक केंद्रित डिज़ाइन और किफायती प्रदर्शन के साथ ट्रेओ ज़ोर ग्राहकों को अधिक बचत देता है और हमें बहुत खुशी है कि अंतिम मील तक सामान पहुंचाने के लिए अब लोग इलेक्ट्रिक वाहन का इस्तेमाल कर रहे हैं. हम ट्रेओ ज़ोर को इस मुकाम तक पहुंचाने के लिए सभी ग्राहकों को धन्यवाद देते हैं.”

ये भी पढ़ें : भारत बनेगा दुनिया का सबसे बड़ा इलेक्ट्रिक वाहन बनाने वाला देश - नितिन गडकरी

0 Comments

महिंद्रा ट्रिओ के साथ लीथियम-आयन बैटरी लगाई गई है जो 11 बीएचपी पावर और 42 एनएम पीक टॉर्क पैदा करने की क्षमता रखती है और इसकी प्रमाणित रेन्ज एक चार्ज में 125 किलोमीटर है. नई ट्रिओ रेन्ज को ऑटो एक्सपो 2020 में पेश किया गया था और यह केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तेलंगाना जैसे बाज़ारों में फिलहाल बेचा जा रहा है. इसके साथ सामान्य तौर पर 3 साल/80,000 किमी की वॉरंटी दी जा रही है, इसके अलावा ग्राहकों के पास इस वॉरंटी को 2 साल/1,00,000 किमी तक बढ़ाने का विकल्प भी मौजूद है.

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

Be the first one to comment
Thanks for the comments.