भारत में नई बाइक और कारें

मारुति सुज़ुकी इग्निस फेसलिफ्ट रिव्यू: पुराने मॉडल की तुलना में ना के बराबर बदली

language dropdown

ऑटो एक्सपो 2020 में मारुति सुज़ुकी ने कार को लॉन्च किया था और अब इग्निस फेसलिफ्ट चलाने का मौका मिला है, जानें पिछले मॉडल के मुकाबले कितनी बदली?

कार मारुति सुज़ुकी के कुछ मॉडल्स में एक है जो बाज़ार में हलचल पैदा नहीं कर पाई थी expand फोटो देखें
कार मारुति सुज़ुकी के कुछ मॉडल्स में एक है जो बाज़ार में हलचल पैदा नहीं कर पाई थी

ऑटो एक्सपो 2020 में मारुति सुज़ुकी ने इस कार को लॉन्च किया था और अब जाकर इग्निस फेसलिफ्ट चलाने का मौका मिला है, मारुति भले ही इस कार को कॉम्पैक्ट अर्बन एसयूवी बोलती हो, लेकिन असल में जो है वो है, यह एक हैचबैक है. यह कार मारुति सुज़ुकी के कुछ मॉडल्स में एक है जो बाज़ार में हलचल पैदा नहीं कर पाई थी, लेकिन पुराने मॉडल की तुलना में अब इसके फेसलिफ्ट मॉडल को लेकर कंपनी को काफी सकारात्मक परिणाम मिल रहे हैं और विदेशों में भी इस इग्निस फेसलिफ्ट को बहुत पसंद किया जा रहा है. तो चलिए आपको बताते हैं मारुति सुज़ुकी इग्निस में हुए बदलावों के बारे में.

62dpa7hoलॉकडाउन खत्म होने के बाद निजी वाहनों की मांग में तेज़ी देखने को मिली है

मारुति सुज़ुकी औसतन हर महीने इग्निस की 1100 यूनिट बेचती है. अगस्त 2020 में इस बिक्री में उछाल आया है और इस महीने कंपनी ने कुल 147 वाहन बेचे जो आंकड़ा जुलाई और अगस्त 2019 में लगभग 55 कारों पर सिमट गया था. लॉकडाउन खत्म होने के बाद निजी वाहनों की मांग में तेज़ी देखने को मिली है और इग्निस की बिक्री बढ़ने की यह भी एक वजह है.

डिज़ाइन

mdai1bf8नई ग्रिल के साथ अब क्रोम का इस्तेमाल किया गया है

इग्निस फेसलिफ्ट में बहुत सारे बदलाव देखने को नहीं मिले हैं, लेकिन कार के अगले हिस्से में जो अलग बात है वह नई ग्रिल है. इसके साथ अब क्रोम का इस्तेमाल किया गया है और नई ग्रिल चार चौकेर ब्लॉक के साथ आई है जो एस-प्रेसो के जैसे दिखते हैं और इसके बीच में सुज़ुकी लोगो लगाया गया है. कार का अगला बंपर भी नया है. इसके साथ बेहतर लुक वाली चंकी सिल्वर स्किड प्लेट दी गई हैं जो इसे दमदार दिखाती हैं और कार का पिछला हिस्सा भी नए बंपर के साथ आया है. इसके अलावा बाहर से कार लगभग पहले जैसी ही है. अच्छी बात यह है कि इग्निस दिखने में हमेंशा से अच्छी रखी है और फेसलिफ्ट मॉडल के साथ भी यही लुक बरकरार है. कुल मिलाकर पिछले मॉडल के मुकाबले दिखने में कार और भी ज़्यादा आकर्षक हो गई है.

इंटीरियर और फीचर्स

4j8m0448केबिन में इस्तेमाल की गई सामग्री, फिट और फिनिश के साथ लेआउट पिछले मॉडल जैसा ही है

केबिन में घुसते ही आप समझ जाएंगे कि कार के अंदरूनी हिस्से में कोई बदलाव नहीं किया गया है. केबिन में इस्तेमाल की गई सामग्री, फिट और फिनिश के साथ लेआउट  पिछले मॉडल जैसा ही है और जो असल में कोई बुराई वाली बात नहीं है. नई इग्निस आकार में छोटी होने के बावजूद अगर इस कार में 4 लोग बैठे हुए हैं तो उन्हें जगह के मामले में कोई दिक्कत नहीं होगी. इग्निस के ज़ेटा और अल्फा वेरिएंट्स में सुज़ुकी का स्मार्टप्ले इंफोटेनमेंट सिस्टम के साथ 7-इंच टचस्क्रीन मिला है और यह एप्पल कारप्ले और एंड्रॉइड ऑटो कनेक्टिविटी के साथ आता है. इसके अलावा आपको एयूएक्स और यूएसबी पॉइंट दिए गए हैं.

asooi298ज़ेटा और अल्फा वेरिएंट्स में सुज़ुकी का स्मार्टप्ले इंफोटेनमेंट सिस्टम के साथ 7-इंच टचस्क्रीन मिला है

मारुति सुज़ुकी इग्निस के सिग्मा वेरिएंट में ऑडिया प्लेयर नहीं दिया गया है, डेल्टा ट्रिम में ऑडियो प्लेयर के साथ सीडी, यूएसबी और एयूएक्स पोर्ट्स दिए गए हैं. कार के सभी वेरिएंट्स को दो एयरबैग्स के साथ एंटीलॉक ब्रेक्स दिए गए हैं, वहीं टॉप मॉडल अल्फा के साथ रिवर्स पार्किंग कैमरा और गाइडिंग लाइन्स दी गई हैं. इग्निस के साथ मिला बूटस्पेस 260 लीटर है जो छोटी यात्रा के हिसाब से पर्याप्त होता है.

Newsbeep

ये भी पढ़ें : किआ सोनेट रिव्यू: 1.0 टर्बो पेट्रोल और 1.5 डीज़ल की टेस्ट ड्राइव

इंजन

uqvchfp8हमने जो कार चलाकर देखी है उसके साथ एजीएस गियरबॉक्स दिया गया है

कंपनी ने इग्निस फेसलिफ्ट के साथ पहले जैसा 1.2-लीटर पेट्रोल इंजन दिया है जो अब बीएस6 मानकों वाला है. यह इंजन 6000 आरपीएम पर 82 बीएचपी और 4200 आरपीमए पर 113 एनएम पीक टॉर्क पैदा करता है. मारुति सुज़ुकी का दावा है कि एक लीटर पेट्रोल में इग्निस के मैन्युअल और ऑटोमैटिक मॉडल 20.89 किमी चलते हैं जो आंकड़ बिल्कुल बीएस4 मॉडल वाला है. हमने जो कार चलाकर देखी है उसके साथ एजीएस गियरबॉक्स दिया गया है. तो हम आपको बताते हैं कि चलने में कार कैसी है.

ड्राइव एक्सपीरियंस

fsabpp5sकार के थ्रॉटल रिस्पॉन्स में सुधार आया है और इसका इंजन भी पहले से ज़्यादा शांत हुआ है

मारुति सुज़ुकी इग्निस फेसलिफ्ट चलने में पिछले मॉडल जैसी ही है. इंजन में साथ बेहतर क्षमता उपलब्ध कराई गई है जो पुराने मॉडल की याद दिलाती है और यह शहर में भीड़-भाड़ वाली सड़कों पर चलाने में काफी आसान कार है. कार के थ्रॉटल रिस्पॉन्स में सुधार आया है और इसका इंजन भी पहले से ज़्यादा शांत हुआ है. हाईवे पर यह कार तेज़ी से रफ्तार पकड़ती है और आप इसे लंबे समय तक 100 या उससे ज़्यादा रफ्तार पर आसानी चला सकते हैं.

ये भी पढ़ें : किआ सोनेट और सबकॉम्पैक्ट SUV सेगमेंट में इसका मुकाबला, पढ़ें विस्त्रत रिव्यू

nrqdljb4कार की राइड क्वालिटी पहले से कुछ बेहतर है लेकिन इसमें काफी उछाल महसूस होता है

मारुति सुज़ुकी इस कार के साथ दिए एएमटी गियरबॉक्स को एजीएस बुलाती है जो शहरी सड़कों के लिए तो बेहतर है, लेकिन अगर आप हाईवे पर कार चला रहे हैं तो ओवरटेक करने के लिए आपको प्लान बनाना पड़ता है. कार की राइड क्वालिटी पहले से कुछ बेहतर है लेकिन इसमें काफी उछाल महसूस होता है, इसके अलावा कार की स्टीयरिंग भी पहले जैसी ही है, लेकिन अपना काम अच्छे से करती है.

कीमत और फैसला

je62p6tमुकाबले की सभी कारें इग्निस से महंगी हैं

मुकाबले के नज़रिए से देखें तो बाज़ार में इग्निस फेसलिफ्ट का मुकाबला ह्यून्दे ग्रैंड आई10 निऑस, फोर्ड फीगो और इसी परिवार की फ्रीस्टाइल, मारुति सुज़ुकी स्विफ्ट से होगा. ह्यून्दे ग्रैंड आई10 निऑस पेट्रोल की शुरुआती कीमत रु 5.13 लाख है जो टॉप मॉडल टर्बो वेरिएंट के लिए रु 7.81 लाख तक जाती है, एस्टा एएमटी पेट्रोल टॉप मॉडल की कीमत रु 7.75 लाख रखी गई है. फोर्ड फीगो पेट्रोल की शुरुआती कीमत रु 5.49 लाख है जो रु 7.05 लाख तक जाती है, और अंत में स्विफ्टी की शुरुआती कीमत रु 5.19 लाख है जो टॉप मॉडल के लिए रु 8.02 लाख तक जाती है. ऐसे में मुकाबले की सभी कारें इग्निस से महंगी हैं.

cmgr1ih4इग्निस फेसलिफ्ट की शुरुआती कीमत रु 4.89 लाख है जो रु 7.20 लाख तक जाती है
0 Comments

मारुति सुज़ुकी इग्निस फेसलिफ्ट की शुरुआती कीमत रु 4.89 लाख है जो टॉप मॉडल के लिए रु 7.20 लाख तक जाती है, इसमें कार के कुल 7 वेरिएंट्स बाज़ार में बेचे जा रहे हैं. चार युवाओं के परिवार के हिसाब से इग्निस बहुत सही विकल्प है, खासतौर पर जब बजट कम हो और मांग बेहतर कार की हो, इस स्थिति में इग्निस बहुत अच्छी कार बनकर सामने आती है.

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

Research on मारुति सुजुकीइग्निस

Be the first one to comment
Thanks for the comments.