भारत में नई बाइक और कारें

दुनिया की सबसे तेज़ कार से 5 गुना ज़्यादा रफ्तार, जानें राफेल की दिलचस्प बातें

language dropdown

इस विमान को लेकर आपमें से बहुत से लोगों में उत्सुकता बनी हुई होगी, तो हमने सोचा कि आपको इस विमान के बारे में कुछ ऐसी जानकारी दें जो काफी दिलचस्प हो.

expand फोटो देखें
राफेल की अधिकतम रफ्तार 2,222 किमी/घंटा या 1.8 मैक है

भारत और हम सभी भारतीयों के लिए ये बड़े गर्व की बात है कि राफेल लड़ाकू विमान का हरियाणा के अंबाला एयर फोर्स बेस पर उतर चुका है. राफेल जैट की मौजूदगी निश्चित तौर पर भारतीय एयर फोर्स की ताकत बढ़ाएगा क्योंकि ये दुनिया के सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमानों में एक है. इस विमान को लेकर आपमें से बहुत से लोगों में उत्सुकता बनी हुई होगी, तो हमने सोचा कि आपको इस विमान के बारे में कुछ ऐसी जानकारी दें जो दिलचस्प हो. सबसे पहले आपको बता दें कि राफेल का मतलब होता है हवा का झोंका और असल में इस फाइटर जैट को देखकर ही समझ आता है कि ये नाम इसके काम से बिल्कुल मेल खाता है.

tnunind4हवा में उड़ते वक्त राफेल में इंधन भरा जा सकता है

राफेल को इराक, सीरिया, अफगानिस्तान, माली और लीबिया में हवा के रास्ते कहर बरसाते हुए देखा गया है. ये 4.5 जनरेशन फाइटर जैट है और इस विमान को एक बार उड़ाकर कई मिशन पूरे किए जा सकते हैं. राफेल दो इंजन वाला जैट है जिसके साथ M88-2 इंजन दिए गए हैं. राफेल में लगा हर इंजन 7.5 टन का है और इसकी अधिकतम रफ्तार 2,222 किमी/घंटा या 1.8 मैक है जो इसे ध्वनि से भी तेज़ रफ्तार वाला विमान बनाते हैं. ये जैट 24.5 टन तक भार उठा सकता है और इसमें 11.4 टन इंधन भरा जा सकता है जिसकी मदद से एक बार इंधन भरने पर इसे 3,700 किमी तक उड़ाया जा सकता है.

ये भी पढ़ें : GMC ने जारी किया बेहद दमदार हमर EV की टीज़र, 2021 में शुरू होगा उत्पादन

n9qld6isराफेल दो इंजन वाला जैट है जिसके साथ M88-2 इंजन दिए गए हैं
0 Comments

इसकी तेज़ रफ्तार का आपको अंदाज़ा हो सके इसके लिए बता दें कि दुनिया की सबसे तेज़ रफ्तार कारों में एक बुगाटी शिरॉन से राफेल पांच गुना तेज़ है. बुगाटी शिरॉन में बेहद दमदार 8-लीटर का डब्ल्यू16 इंजन लगाया गया है जो दो वी8 इंजन के बराबर है और 1,479 बीएचपी पावर के साथ 1,600 एनएम पीक टॉर्क जनरेट करता है. इस कार की अधिकतम रफ्तार 420 किमी/घंटा है जो राफेल की अधिकतम रफ्तार से पांच गुना कम है. ये भी बता दें कि ये बेहद आधुनिक तकनीक वाला लड़ाकू विमान है जिसे लैंड होने के लिए सिर्फ 450 मीटर जगह की ज़रूरत होती है और किसी भी विपरीत परिस्थिति का सामना करने के लिए ये विकान काफी है.

लेटेस्ट न्यूज़

Be the first one to comment
Thanks for the comments.