भारत में नई बाइक और कारें

लॉकडाउन के दौरान कैसे करें वाहन टायरों की सही तरीके से देखभाल

सभी मैकेनिकल चेक के साथ-साथ, आपके वाहन के टायरों को भी नियमित रखरखाव की आवश्यकता होती है, ख़ासतौर पर ऐसे समय में जब उनका उपयोग नहीं किया जा रहा हो.

फोटो देखें
बहुत लंबे समय तक एक ही स्थिति में वाहन के वजन से टायर एक फ्लैट स्पॉट बना सकता है.

कोरोनावायरस के कारण लगे लॉकडाउन ने यह सुनिश्चित कर दिया है कि हमारे वाहन लगभग 2 महीने से चल नहीं पाए हैं. इसका मतलब है कि हमें अपने वाहनों की पहले से भी अधिक देखभाल करने की आवश्यकता है. पिछले कुछ हफ्तों में कारएंडबाइक ने आपके साथ लॉकडाउन के दौरान वाहनों की देखभाल करने के सुझाव साझा किए हैं ताकि लॉकडाउन समाप्त होने पर आप को भारी सर्विस और मरम्मत बिलों का भुगतान न करना पड़ें. अब समय है कि हम टायरों की ओर अपना ध्यान दें क्योंकि ऐसे समय में उनका ध्यान रखना भी उतना ही ज़रूरी है.

no7pkjkc

लॉकडाउन अवधि के दौरान टायरों का जीवन बढ़ाना महत्वपूर्ण है.

टायर निर्माता मैक्सिस कुछ आसान तरीके लेकर आया है जो यह सुनिश्चित करने में आपकी मदद करेंगे कि आपके वाहन के टायरों को अनावश्यक नुकसान से बचाया जाए. आम तौर पर, टायरों को अधिक फुलाने की सिफारिश नहीं की जाती है क्योंकि इससे पकड़ कम हो जाती है. लेकिन इन दिनों कुछ हद तक ऐसा करने से फायदा होगा क्योंकि फ्लैट स्पॉट बनने का खतरा कम हो जाएगा. 4 पहिये वाले वाहनों को सप्ताह में एक बार 10 मीटर तक आगे / पीछे धकेलने से फ्लैट स्पॉट बनने से रोका जा सकता है. 2-व्हीलर्स के मामले में यह बेहतर है अगर वाहन को मेन स्टैंड पर खड़ा करें ताकि टायर जमीन कम छुएं.

यह भी पढ़ें: कोरोनावायरस: टैक्सी में सामाजिक दूरी बनाए रखने की अनूठी पहल

0 Comments

ढकी हुई जगह या छांव में वाहन खड़ा करने से भी मदद मिलती है क्योंकि टायर सूर्य के प्रकाश या यूवी किरणों के सीधे संपर्क में नहीं आते हैं. टायर को रोड ग्रिम या यूवी लाइट से बचाने के लिए ड्रेसिंग भी देनी चाहिए, साथ ही किसी भी नुकसान के लिए उनकी निरंतर जांच भी ज़रूरी है.