carandbike logo

टाटा मोटर्स ने लॉकडाउन में ग्राहकों के लिए शुरू की ‘नो टच बाय हैंड’ सेवा

वाहन को सेनिटाइज़ करने को लेकर ग्राहकों की मांग पर टाटा मोटर्स ने एक पहल की शुरुआत की है जिसे ‘नो टच बाय हैंड’ नाम दिया गया है. पढ़ें पूरी खबर...

सर्विस और मरम्मत के लिए टाटा मोटर्स अपनी सर्विस कई शहरों में मुहैया करा रही है expand फोटो देखें
सर्विस और मरम्मत के लिए टाटा मोटर्स अपनी सर्विस कई शहरों में मुहैया करा रही है

टाटा मोटर्स देशभर में जारी लॉकडाउन के दौरान अपने ग्राहकों को हाई क्वालिटी सर्विस देने के लिए कई कदम उठा ही है. इसके अंतर्गत ग्राहक टाटा मोटर्स के हॉटलाइन नंबर पर कॉल करके अपने वाहन के लिए सर्विस अपॉइंटमेंट बुक कर सकते हैं. कोरोना महामारी से लड़ रहे एसेंशियल सर्विस वाले और पुलिस के वाहन लॉकडाउन के दौरान बिना किसी रुकावट के अपना काम आसानी से करते रहें, इसके लिए टाटा मोटर्स ने क्षेत्रीय सर्विस देने वाली टीम को विशेष अनुमति दी है. जिन वाहनों को सर्विस और मरम्मत की ज़रूरत है, उन वाहनों के लिए टाटा मोटर्स अपनी सर्विस कई शहरों में मुहैया करा रही है. बता दें कि कंपनी ने 23 मार्च से 10 जून 2020 के बीच कोविड-19 योद्धाओं के 225 वाहनों की सर्विस की है.

2vekhh2
टाटा मोटर्स ने एक पहल की शुरुआत की है जिसे ‘नो टच बाय हैंड' नाम दिया गया है

वाहन को सेनिटाइज़ करने को लेकर ग्राहकों की मांग पर टाटा मोटर्स ने एक पहल की शुरुआत की है जिसे ‘नो टच बाय हैंड' नाम दिया गया है. इस सुविधा के अंतर्गत वाहनों की स्टीयरिंग व्हील, सीट्स और गियर नॉब के लिए बायो-डीग्रेडेबल-डिस्पोज़ेबल कवर्स लगाए जाएंगे. ये कवर्स वर्कशॉप के अंदर घुसते वक्त वाहन में लगाए जाएंगे और सर्विस हो जाने के बाद ग्राहक को वाहन सौंपते वक्त उनके सामने ही इन्हें निकालकर नष्ट कर दिया जाएगा. जिन ग्राहकों ने अपने वाहन की कॉन्टेक्टलेस सर्विस के लिए आवेदन किया है उनके घर से वाहन को ले जाने की व्यवस्था शुरू कर दी गई है. इस सर्विस के लिए चुकाए जाने वाले शुल्क का भुगतान भी ऑनलाइन लेने की व्यवस्था की गई है.

ये भी पढ़ें : 2020 टाटा ग्राविटास लॉकडाउन के दौरान स्पॉट, त्यौहारों के सीज़न में होगी लॉन्च

0 Comments

10 जून 2020 से टाटा मोटर्स के 800 सेल्स टचपॉइंट और 653 वर्कशॉप पर काम शुरू कर दिया गया है जिसमें ग्राहकों के कम से कम संपर्क में आए सभी सुरक्षा गाइडलाइंस का पालन करते हुए बिक्री और सर्विस का काम शुरू कर दिया गया है. ऐसी स्थिति में अधिकांश ग्राहकों को उनका वाहन सर्विस करके उसी दिन वापस सौंपा जा रहा है. हालांकि जो वाहन देरी से डीलरशिप पर पहुंच रहे हैं उन्हें रातभर के लिए वर्कशॉप पर रखा जा रहा है, यही स्थिति वाहन की बैटरी चार्ज करने की दशा में भी हो रही है. इसके अलावा दुर्घटनाग्रस्त वाहनों की मरम्मत के लिए कंपनी को 3-4 दिन का समय लग रहा है.

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

नाइ कार मॉडल्स

Be the first one to comment
Thanks for the comments.