भारत में नई बाइक और कारें

कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए टाटा मोटर्स के अहम कदम

अपनी मूल कंपनी टाटा सन्स् की तरह ही टाटा मोटर्स ने भी कोरोनोवायरस महामारी के प्रसार को रोकने के लिए उपायों का एलान किया है

फोटो देखें
उद्देश्य है खान-पान का प्रावधान करना, मेडिकल स्टाफ को जरुरी सामान देना और जनता को शिक्षित करना

टाटा मोटर्स ने कोरोनवायरस को फैलने से रोकने के लिए कई कदम उठाए हैं. यह उस रु 1,000 करोड़ के अतिरिक्त है जो मूल कंपनी टाटा संस ने महामारी से लड़ने के लिए दान दिया है. ऑटोमोबाइल निर्माता का कहना है कि अपने कॉर्पोरेट सोशल रिस्पॉन्सिबिलिटी आर्म के तहत वह तीन महत्वपूर्ण क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित करेगा जिसमें आवश्यक आपूर्ति का प्रावधान शामिल है, साथ ही चिकित्सा कर्मियों को सुरक्षित रखने के लिए सामान देना और बीमारी रोकने के लिए आम जनता को शिक्षित करना भी शामिल है.

oc9t8ip4

अब तक कंपनी 25,000 से अधिक पके हुए भोजन और 5,000 से अधिक राशन किट बांट चुकी है 

कंपनी ने देश के कई क्षेत्रों में प्रवासियों और फंसे समुदायों, शहरी बस्तियों, ग्रामीणों, ड्राइवरों, सह-चालकों, मेकेनिकों, अस्थायी कर्मियों और सुरक्षा कर्मियों के लिए खाद्य आपूर्ति का इंतज़ाम किया है. अब तक वे 25,000 से अधिक पके हुए भोजन और 5,000 से अधिक राशन किट प्रदान करने में सक्षम रहे हैं. टाटा मोटर्स ने बेंगलुरु और गुरुग्राम के पास ट्रक ड्राइवरों को भोजन के पैकेट और व्यक्तिगत सुरक्षा किट बांटने के लिए इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन लिमिटेड के साथ भागीदारी भी की है. लखनऊ में अस्थायी कर्मचारियों के लिए भोजन संबंधी अनुरोधों के लिए दो हेल्पलाइन नंबर भी स्थापित किए गए हैं और पुणे में 19 पुलिस चौकी और यातायात पुलिस को पानी उपलब्ध कराया जा रहा है.

pkhvmris

पुणे में 19 पुलिस चौकी और यातायात पुलिस को पानी उपलब्ध कराया जा रहा है 

टाटा मोटर्स इस कठिन समय में चिकित्सा पेशे में सेवा कर रहे लोगों की भी देखरेख कर रही है. अस्पतालों, विक्रेताओं, स्वास्थ्य-श्रमिकों, पुलिस स्टेशनों, सेना के कर्मियों और कंपनी के प्लांट्स के आसपास के समुदायों में ज़रूरी सामान भी बांट रही है. अब तक, कंपनी ने 17,000 मास्क को बनाने में सहयाग किया है. नगरपालिका अस्पतालों को N95 मास्क, सैनिटाइज़र, व्यक्तिगत सुरक्षा उपकरण किट भी दिए किए जा रहे हैं. धारवाड़ में 500 से अधिक फंसे हुए ट्रक ड्राइवरों और सह-चालकों की स्वास्थ्य जांच की जा रही है और बुनियादी दवा दी जा रही है.

0 Comments

आम जनता को शिक्षित करने की बात करें तो टाटा मोटर्स झुग्गियों में जागरूकता फैलाने के लिए और निम्न-आय वर्ग के समुदायों के बीच बैनर और अन्य संबंधित सूचना सामग्री लगाकर अच्छी स्वास्थ्य आदतों पर जोर दे रही है. कंपनी अपने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स का भी लाभ उठा रही है ताकि सरल और आसान एहतियाती उपायों के बारे में जागरूकता फैलाई जा सके और हर व्यक्ति अप्रभावित और स्वस्थ रह सके.

Be the first one to comment
Thanks for the comments.