भारत में नई बाइक और कारें

परिवहन मंत्रालय की सभी वाहनों के लिए QR कोड के साथ पीयूसी प्रमाणपत्र पेश करने की योजना

language dropdown

परिवहन मंत्रालय जल्द ही पूरे देश में एकसमान पीयूसी प्रमाणपत्र चाली करेगा जिसका QR कोड मालिक और वाहन के बारे में सारी ज़रूरी जानकारी देगा.

पीयूसी करवाने से पहले मालिक के मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस भेजा जाएगा. expand फोटो देखें
पीयूसी करवाने से पहले मालिक के मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस भेजा जाएगा.

सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय (MoRTH) पूरे देश में सभी वाहनों के लिए एकसमान प्रदूषण प्रमाणपत्र (PUC) शुरू करने की योजना बना रहा है. ETAuto की रिपोर्ट के अनुसार, परिवहन मंत्रालय जल्द ही पूरे देश में एकसमान PUC प्रमाण पत्र बनाएगा जो ज़रूरू जानकारी देने वाले QR कोड के साथ आएगा. पीयूसी प्रमाणपत्रों पर QR कोड में मालिक, वाहन और प्रदूषण की स्थिति की बारीकियां होंगी. परिवहन मंत्रालय ने शुक्रवार को इन परिवर्तनों का प्रस्ताव करते हुए एक मसौदा अधिसूचना जारी की और हितधारकों के सुझावों और आपत्तियों भेजने के लिए कहा.

यह भी पढ़ें: इलेक्ट्रिक और बायो-फ्यूल पर चलने वाली टू-व्हीलर टैक्सी अब होंगी हकीकत

परिवहन मंत्रालय ने केंद्रीय मोटर वाहन नियमों में बदलावों का प्रस्ताव पहले ही कर दिया है और पीयूसी करवाने से पहले मालिक के मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस भेजा जाएगा. यह प्रणाली वाहन चोरी को कम करने में भी मदद करेगी जिसका पीयूसी प्रमाण पत्र बनवाने के लिए परीक्षण केंद्रों में ले जाने पर पता लगाया जा सकता है.

fkpsidnk

नियम तोड़ने पर मालिक को तीन महीने की जेल या रु 10,000 तक का जुर्माना देना पड़ सकता है

0 Comments

कानून में प्रस्तावित बदलावों के तहत, यदि अधिकारी के पास यह मानने का कोई कारण है कि कोई वाहन प्रदूषण मानकों के प्रावधानों को पूरा नहीं कर रहा है, तो वह किसी भी अधिकृत PUC परीक्षण सेंटर में मालिक को टैस्ट करने के लिए कह सकता है. ध्यान दें, यदि वाहन का ड्राइवर प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने में विफल रहता है, तो वह मोटर वाहन अधिनियम के प्रावधानों के तहत पर्याप्त रूप से उत्तरदायी होगा. मालिक को तीन महीने की जेल या रु 10,000 तक का जुर्माने के अलावा तीन महीने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस रद्द कराना पड़ सकता है.

Newsbeep

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

नाइ कार मॉडल्स