भारत में नई बाइक और कारें

अल्ट्रावॉयलेट F77 इलैक्ट्रिक मोटरसाइकल से हटा पर्दा, बनेगी देश की सबसे तेज़ ई-बाइक

language dropdown

अल्ट्रावॉयलेट F77 में एयर-कूल्ड ब्रशलेस DC मोटर लगाई गई है जो 33.5 bhp पावर जनरेट करती है और बाइक की टॉप स्पीड 147kmph बताई गई है.

expand फोटो देखें
F77 में एयर-कूल्ड ब्रशलेस DC मोटर लगाई गई है जो 33.5 bhp पावर जनरेट करती है

बेंगलुरु आधारित टैक स्टार्ट-अप अल्ट्रावॉयलेट ऑटोमोटिव ने अल्ट्रावॉयलेट F77 इलैक्ट्रिक मोटरसाइकल से पर्दा हटाया है. F77 में एयर-कूल्ड ब्रशलेस डीसी मोटर लगाई गई है जो 33.5 bhp पावर जनरेट करती है और इस बाइक की टॉप स्पीड 147 किमी/घंटा बताई गई है. ऐसे में ये भारत की सबसे तेज़ रफ्तार इलैक्ट्रिक मोटरसाइकल बन गई है. अल्ट्रावॉयलेट F77 0-60 किमी/घंटा रफ्तार पकड़ने में 2.9 सेकंड का समय लगता है, वहीं 0-100 किमी/घंटा स्पीड पकड़ने में 7.5 सेकंड का समय लगता है. अल्ट्रावॉयलेट F77 की ऑन-रोड कीमत 3 लाख रुपए रखी जाएगी और इसकी डिलिवरी अगले साल अक्टूबर से शुरू की जाएगी.

ve7e8a9बाइक की टॉप स्पीड 147 किमी/घंटा बताई गई है

अल्ट्रावॉयलेट F77 तीन राइडिंग मोड्स - ईको, स्पोर्ट और इन्सेन में आती है और इस बाइक्स के व्हील को दमदार 450 एनएम टॉर्क मिलता है. इस इलैक्ट्रिक मोटरसाइकल में स्लिम और मॉड्युलर लीथियम-आयन बैटरी लगाई गई है जो सिंगल चार्ज में 130-140 किमी तक चलती है. सामान्य चार्जर की मदद से ये बैटरी 5 घंटे में फुल चार्ज होती है, वहीं पोर्टेबल फास्ट चार्जर से इसे 50 मिनट में ही 80% चार्ज किया जा सकता है और फुल चार्ज होने में इसे 90 मिनट लगता है. बाइक के अगले हिस्से में 320mm डिस्क ब्रेक के साथ फोर-पिस्टन क्लिपर और पिछले हिस्से में 230mm डिस्क के साथ सिंगल-पिस्टन क्लिपर दिया गया है, इसके साथ ही बाइक डुअल-चैनल ABS से लैस है.

ये भी पढ़े : धीमी गति से चलने वाली ओकिनावा Lite इलैक्ट्रिक स्कूटर लॉन्च, कीमत ₹ 59,990

clnh1brअल्ट्रावॉयलेट F77 को 0-60 किमी/घंटा रफ्तार पकड़ने में 2.9 सेकंड का समय लगता है
0 Comments

अल्ट्रावॉयलेट F77 के साथ फीचर्स की लंबी लिस्ट दी गई है जिसमें फुल-कलर टीएफटी स्क्रीन के साथ ब्लूटूथ कनेक्टिविटी और डेडिकेटेड ऐप दी गई हैं जो ओवर-दी-एयर अपडेट, रिमोट डायगनोस्टिक, बाइक लोकेटर और राइड एनालिसिस शामिल हैं. इन डेडिकेटेड ऐप के माध्यम से रिजनरेटिव ब्रेकिंग को कंट्रोल करने से लेकर स्पीड लिमिटर के साथ-साथ टॉर्क डिलिवरी को भी कंट्रोल किया जा सकता है. बता दें कि अल्ट्रावॉयलेट ऑटोमोटिव पर पैसा देश की नामी टू-व्हीलर कंपनी TVS मोटर लगा रही है, यहां कंपनी ने दो बार में 11 करोड़ रुपए निवेश किए हैं और कंपनी के 25% स्टेक TVS के पास हैं.

लेटेस्ट न्यूज़