भारत में नई बाइक और कारें

पुरानी कार ख़रीदने वाले ज़्यादा लोग अब लोन लेगें: महिंद्रा फर्स्ट चॉइस

कंपनी के सीईओ आशुतोष पांडे के अनुसार लॉकडाउन के बाद हर दूसरा पुरानी कार ख़रीदने वाला लोन लेने के विक्लप को चुन सकता है. अब तक पुरानी कार ख़रीदने वाले सिर्फ 20-30 % लोग ही लोन लेते थे.

फोटो देखें
कारएंडबाइक सर्वे के हिसाब से 15% लोग जो पहले नकद भुगतान करने वाले थे, अब लोन लेंगे.

ऑटो सेक्टर पर कोरोनावायरस महामारी का बड़ा असर पड़ा है. व्यापार करने का तरीका हो या ग्राहकों कि मानसिकताओं को समझना आने वाले समय में काफी कुछ बदलने वाला है. महिंद्रा एंड महिंद्रा की पहले इस्तेमाल की गई कारों की डिवीजन, महिंद्रा फर्स्ट चॉइस के सीईओ आशुतोष पांडे ने कारबाइक को बताया है लॉकडाउन के बाद हर दूसरा पुरानी कार ख़रीदने वाला ग्राहक लोन लेने के विक्लप को चुन सकता है. कारएंडबाइक के शो फ्रीव्हीलिंग के में उन्होंने यह जानकारी साझा और महिंद्रा फर्स्ट चॉइस ग्राहकों का उदाहरण देते हुए कहा कि फिल्हाल केवल 20-30% खरीदार ही हैं जो पुरानी कार खरीदते समय लोन लेते हैं.

कोरोनावायरस संकट के बाद पुरानी कारों के लिए लोन लेने के तरीके में कैसे बदलाव आएंगे इस पर पांडे ने कहा," नई कारों और इस्तेमाल की गई कारों के लिए कितना लोन लिया जाता है इसमे बहुत अंतर है. एक रिसर्च के अनुसार पुरानी कारें खरीदने के लिए पिछले साल तक सिर्फ 18% लोग ही लोन लेते थे, जबकि नई कारों के मामले में, यह आंकड़ा 70% के करीब था. हमारे मुताबिक आने वाले समय में इस बड़े फर्क में काफी कमी आएगी"

यह भी पढ़ें: कारएंडबाइक सर्वे के मुताबिक लॉकडाइन के बाद लोगों की पहली पसंद होगी ख़ुद की कार

0 Comments

कारएंडबाइक द्वारा किए गए एक हालिया सर्वेक्षण में, हमने पाया कि अधिकांश ग्राहक कार खरीदते समय लोन के विकल्प चुनेंगे. 60% लोगों ने कहा कि वह कार खरीदने के लिए लोन लेंगे जबकि 15% ऐसे लोग हैं जो पहले नकद भुगतान करने की योजना बना रहे थे लेकिन अब लोन लेने की सोच रहे हैं. 20% लोगों ने कहा कि वे अब भी नकद भुगतान के साथ ही कार खरीदेंगे और 5% ऐसे लोग भी हैं जिन्होंने पहले लोन लेने की योजना बनाई थी लेकिन अब पूर्ण भुगतान करेंगे.