भारत में नई बाइक और कारें

कोरोनावायरस महामारी: मारुति सुज़ुकी को साल की पहली तिमाही में हुआ ₹ 249 करोड़ का नुकसान

language dropdown

कंपनी ने बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में एक नियामक फाइलिंग में इस जानकारी का खुलासा किया.

expand फोटो देखें
मारुति सुज़ुकी का पिछले 17 वर्षों में यह पहला तिमाही नुकसान है.

देश की सबसे बड़ी कार निर्माता मारुति सुज़ुकी ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही के लिए अपने वित्तीय परिणामों की घोषणा कर दी है. अप्रैल से जून 2020 की अवधि के दौरान कंपनी ने कुल रु. 36,77.5 करोड़ की बिक्री की जो पिछले वर्ष से 80% कम था. 30 जून को समाप्त हुई अवधि में कंपनी को रू 2,49.4 का नुकसान भी उठाना पड़ा. पिछले वित्त वर्ष की पहली तिमाही में कंपनी ने रु 1435.5 करोड़ का लाभ कमाया था. 17 सालों में यह पहली बार हुआ है कि मारुति को किसी तिमाही में नुकसान हुआ है.

aepn4k5o

घोषणा के बाद कल की तुलना में कंपनी के शेयर 2% कम मूल्य पर कारोबार कर रहे थे

घोषणा के बाद, कंपनी के शेयर दिन में 3 बजे लगभग रु. 6150 पर कारोबार कर रहे थे जो कल के अंत की तुलना में लगभग 2% कम था. कोरोनावायरस महामारी ने भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग के इतिहास में एक अभूतपूर्व तिमाही सुनिश्चित की है. लॉकडाइन के चलते अप्रैल के महीने में कामकाज पूरी तरह से बंद रहा और मई में आंशिक रूप से फिर से शुरू किया गया. इसका मतलब है कि तिमाही के एक बड़े हिस्से में मारुति सुज़ुकी के लिए शून्य उत्पादन और शून्य बिक्री हुई.

यह भी पढें: मारुति सुज़ुकी ने लॉन्च से पहले S-Cross की बुकिंग शुरू की

aj8q8fjs

तिमाही के एक बड़े हिस्से में लॉकडाउन के कारण शून्य उत्पादन और बिक्री हुई

0 Comments

बिक्री के लिहाज़ से, मारुति सुज़ुकी ने तिमाही के दौरान कुल 76,599 वाहन बेचे. घरेलू बाजार में बिक्री 67,027 इकाई रही जबकि कुल 9,572 कारों का निर्यात हुआ. कंपनी के अनुसार कम परिचालन खर्च और निवेशित अधिशेष पर अधिक उचित मूल्य लाभ सुनिश्चित करने से नुकसान कम करने में मदद मिली. बुधवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में एक नियामक फाइलिंग में यह जानकारी सामने आई. पिछले साल अप्रैल-जून तिमाही में कंपनी ने कुल 402,594 वाहन बेचे थे, जो कि 2018-2019 की इसी अवधि की तुलना में 17.9% कम था.

लेटेस्ट न्यूज़

Be the first one to comment
Thanks for the comments.