भारत में नई बाइक और कारें

ह्यूंदैई ने अपने सर्विस नेटवर्क में पर्यावरण संरक्षण के कई कदम उठाए

कंपनी अपनी वर्कशॉप्स में कई पर्यावरण-अनुकूल प्रक्रियाओं का पालन कर रही है, जैसे बिना पानी के कार की धुलाई और बारिश के पानी को बचाना.

expand फोटो देखें
कंपनी कचरा प्रबंधन पर अपने कर्मचारियों के बीच जागरूकता पैदा कर कर रही है.

दुनिया भर में ऑटोमोबाइल कंपनियां कई एसे कदम उठा रही हैं जो किसी न किसी तरह से पर्यावरण को सुरक्षित रखने में मदद करते हैं. भारत में भी कई वाहन निर्माता प्राकृतिक संसाधनों को बचाने में सक्रिय रूप से शामिल हैं और विश्व पर्यावरण दिवस पर ह्यूंदैई मोटर इंडिया ने एक एसी ही पहल शुरू की है. कंपनी अपने सर्विस नेटवर्क में कई ऐसी प्रक्रियाओं का उपयोग कर रही है जिनसे पर्यावरण को बचाने में मदद मिल सके. इसमें बारिश के पानी को बचाना, एलईडी लाईट और सोलर पैनल का उपयोग और जल जनित पेंट सिस्टम शामिल हैं. कंपनी कचरा प्रबंधन पर अपने वर्कशॉप के कर्मचारियों के बीच जागरूकता पैदा करने की भी कोशिश कर रही है.

si2cef5g

ह्यूंदैई भारत में कोना इलेक्ट्रिक कार बेचती है, जो पर्यावरण संरक्षण की तरफ एक महत्वपूर्ण कदम है

ह्यूंदैई ग्रीन मोबिलिटी के विचार को बढ़ावा देने के लिए देश में सभी वर्कशॉप में विश्व पर्यावरण दिवस समारोह शिविर आयोजित कर रही है. कंपनी के सेल्स, मार्कटिेंग और सर्विस के निदेशक, तरुण गर्ग ने कहा, "हम पर्यावरण की बदलती आवश्यकताओं के लिए हमेशा समाधानों के साथ तैयार रहते हैं, हम निरंतर प्रयास कर रहे हैं कि वाहन की सर्विसिंग के पर्यावरण के अनुकूल साधनों का उपयोग करने वाले स्वच्छ वातावरण से गुजरें."

यह भी पढ़ें: कोरोनावायरस से लड़ रहे योद्धाओं के लिए ह्यूंदैई की ख़ास पेशकश

0 Comments

इस पहल का एक अन्य महत्वपूर्ण पहलू बिना पानी के कार वॉश को बढ़ावा देना है. कंपनी के अनुसार यह हर कार को धोने में 120 लीटर पानी बचाता है. कंपनी के हिसाब से देश भर में अपने पूरे बिक्री और सर्विस नेटवर्क वह पिछले 3 वर्षों में 320 मिलियन लीटर पानी बचा पाई है. अब तक कुल 28 लाख एसी धुलाई प्रक्रियाएं की जा चुकी हैं. विश्व पर्यावरण दिवस पर, कंपनी "टाइम फॉर नेचर" थीम पर बच्चों के लिए ड्राइंग प्रतियोगिता का आयोजन करते हुए शारुम पर आने जाने ग्राहकों को पौधे भी बांट रही है.

लेटेस्ट न्यूज़