carandbike logo

टाटा सफारी रिव्यू: दमदार एसयूवी की वापसी

3-रो वाली हैरियर के रूप में टाटा की मशहूर सफारी एसयूवी की वापसी हुई है. हम कर रहे हैं कार के मैनुअल और ऑटोमैटिक वेरिएंट्स की टैस्ट ड्राइव.

टाटा सफारी रिव्यू: दमदार एसयूवी की वापसी expand फोटो देखें
टाटा सफारी रिव्यू: दमदार एसयूवी की वापसी

सिर्फ 2 सालों में ही टाटा मोटर्स की तीन-रो वाली इस एसयूवी में बड़े पैमाने पर बदलाव हुए हैं, कम से कम जब इसके नाम की बात हो. 3-रो वाली हैरियर या H7X की शुरुआत 2019 के जिनेवा मोटर शो में बज़र्ड नाम से हुई थी और एक साल बाद दिल्ली ऑटो एक्सपो में यह ग्रैविटास बन गई. और अब लगभग एक और साल के बाद जब यह लॉन्च के लिए तैयार है इसको फिर एक नया नाम मिला है! हमने आखिरी बार टाटा मोटर्स के शोरूम में सफारी को बिक्री पर 2019 में देखा था और अब यह वापस आ गई है.

यह भी पढ़ें: 2021 टाटा सफारी से हटा पर्दा, उत्पादन शुरू, भारत में जल्द लॉन्च होगी SUV

डिज़ाइन

55buflhc

हैरियर के मुकाबले सफारी 63 मिमी ज़्यादा लंबी है. 

नई टाटा सफारी लैंड रोवर के डी8 से मिले ऑप्टिमल मॉड्यूलर एफ़िशिएंट ग्लोबल एडवांस्ड आर्किटेक्चर प्लेटफ़ॉर्म पर बनी है जिस पर हैरियर भी आधारित है. लेकिन सामने से टाटा मोटर्स ने सफारी को हैरियर से अलग दिखाने की काफी कोशिश की है. मसलन कार की ग्रिल बहुत अलग है और यहां क्रोम का भरपूर इस्तेमाल हुआ है. साथ ही इसपर कंपनी का ट्राए-ऐरो पेटर्न भी देखा जा सकता है. इसके अलावा आपको प्रोजेक्टर हेडलैंप, एलईडी डीएरएल और मुढ़ने वाली फॉग लैंप भी मिलती हैं. कार के सबसे महंगे मॉडल में 18-इंच के अलॉय व्हील दिए गए हैं लेकिन बाकी सब में आपको 16-इंच के पहिये ही मिलेंगे.

यह भी पढ़ें: बिल्कुल नई टाटा सफारी पहली बार दुनिया के सामने की गई पेश

8l4hat98

पीछे की तरफ उठी हुई छत पुरानी सफारी की याद दि्लाती है. 

हैरियर से कार कुल 63 मिमी लंबी है लेकिन व्हीलबेस एकदम बराबर है. पीछे की तरफ उठी हुई छत पुरानी सफारी की याद दि्लाती है और दो एलईडी लैंप के साथ एक नई टेल गेट डिज़ाइन भी पेश की गई है. कुल मिलाकर हालांकि सफारी अच्छी दिखती है, लेकिन हम इस बात को नहीं नज़रअंदाज़ सकते हैं कि यह हैरियर प्लस की तरह भी दिखती है. यह 4661 मिमी लंबी और उठी हुई छत की वजह से यह 1786 मिमी ऊँची है, जो कि हरियर की तुलना में 80 मिमी ज़्यादा है. 1894 मिमी की चौड़ाई और 2741 मिमी का व्हीलबेस हैरियर के जैसा ही है. इस पर सिर्फ 3 रंग विकल्प हैं - रोयाल ब्लू, डेटोना ग्रे और ऑर्कस व्हाइट.

यहां देखें बिल्कुल नई टाटा सफारी के हिंदी रिव्यू का वीडियो

कैबिन

2r0lqkfk

डैश आकर्षक लगता है और 8.8 इंच की फ्लोटिंग टचस्क्रीन ठीक इसके बीच में बैठती है.  

अंदर इस्तेमाल किया गया नया ओएस्टर सफेद रंग हैरियर से बिल्कुल अलग है और यह देखने में काफी आलीशान है. ड्यूल टोन ब्लैक एंड व्हाइट में डैश आकर्षक लगता है और 8.8 इंच की फ्लोटिंग टचस्क्रीन ठीक इसके बीच में बैठती है. यह Apple CarPlay और Android Auto, वॉयस रिकग्निशन और वॉइस अलर्ट के साथ चलती है. Tata की iRA या इंटेलिजेंट रियल टाइम असिस्टेड कनेक्टिड कार तकनीक भी सफारी में जगह पाती है. इसमें लोकेशन-आधारित सेवाएं, रिमोट कमांड और लाइव वाहन डायग्नोस्टिक्स जैसे फीचर शामिल हैं. निचले वेरिएंट्स में 7” की स्क्रीन मिलती है और एक ऐसे समय में जहां i20 जैसी छोटी कार में भी 10.25 इंच की स्क्रीन है, ये दोनो छोटी लग सकती हैं.

यह भी पढ़ें: 2021 टाटा सफारी की प्री-बुकिंग 4 फरवरी से होगी शुरू, जानें कितनी बदली SUV

8fjguo24

अगर आपको कैप्टैन सीट्स चाहिंए तो भी सबसे महंगा म़ॉडल ही चुनना होगा.  

9 स्पीकर जेबीएल सिस्टम, 7 इंच का टीएफटी डिस्प्ले इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर, इलेक्ट्रिकली एडजस्टेबल ड्राइवर सीट, लेदर अपहोल्स्ट्री और इलेक्ट्रिक पार्किंग ब्रेक केवल एसयूवी के सबसे महंगे एक्स जेड वेरिएंट में दिए गए हैं. एक बड़ा पैनोरमिक सनरूफ विकल्प जिसे टाटा ने मैजस्टिक स्काइडोम नाम दिया है, 2 ऊंचे वेरिएंट्स पर उपलब्ध है. और अगर आपको कैप्टैन सीट्स चाहिंए तो भी सबसे महंगा म़ॉडल ही चुनना होगा. बाकी सब में 3 यात्रियों के लिए बेंच सीट मिलेगी. एक बॉस मोड की मदद से आप दूसरी रो में बैठे हुए ही अगली सीट को आगे ढकेल सकते हैं जो काफी काम की चीज़ है. कार का व्हीलबस नही बदला है इसलिए आपको तीसरी रो में पहुचने मे थो़ड़ी मुश्किल हो सकती है.

sqrc1c4o

बड़े लोगोंं को भी तीसरी रो में बैठने में ज़्यादा परेशानी नही होगी.

लेकिन यहां आने के बाद आपको काफी आश्र्चर्य होगा क्योंकि ठीक-ठाक जगह की पेशकश की गई है.  तीसरी रो में 889 मिमी हेडरूम है वहीं लेगरूम 832 मिमी का है. सीट की ऊंचाई 315 मिमी और सीट का एंगल है 23 डिग्री. इस सबका मतलब है कि बड़ों को भी यहां बैठने में ज़्यादा परेशानी नही होगी. दो यूएसबी चार्डिंग पोर्ट के अलावा यहां ऐसा वेंट और ऐसी कंट्रोल भी हैं. लेकिन अगर कार में 6 या 7 लोग यात्रा कर रहे हैं तो आपको सामान ले जाने के लिए कितनी जगह मिलेगी? बहुत ज्यादा नहीं क्योंकि जो बचता है वह सिर्फ 73 लीटर है. वहीं आप तीसरी और दूसरी रो में बेंच सीट को गिरा सकते हैं. तीसरी रो गिराने पर आपको आपको 750 लीटर जगह मिलती है और दूसरी रो भी गिर जाए तो 1658 लीटर.

इंजन

mgletq64

कार में सिर्फ डीज़ल इंजन का विकल्प दिया गया है.

सफारी का 2.0 लीटर 4-सिलेंडर टर्बो डीज़ल इंजन हैरियर ले लिया गया है और जब आंकड़ों की बात आती है तो कुछ भी नहीं बदला है. आपको 168 बीएचपी की अधिकतम ताकत और 350 एनएम का पीक टॉर्क मिलता है, जो 1750 आरपीएम से 2500 आरपीएम के बीच रहता है. और अच्छी बात यह है कि हैरियर सहित अपनी हालिया कारों में से कुछ के विपरीत, टाटा शुरुआत से ही मैनुअल के अलावा ऑटोमैटिक गियरबॉक्स भी कार के साथ पेश कर रही है. मैनुअल में गियरशिफ्ट अभी भी थोड़ा अटकता है और थ्रो चालक के आराम के लिए थोड़ा छोटा हो सकता था. और जो थोड़ा बहुत लैग लगता है वो सिर्फ पीक टॉर्क मिलने से पहले. इसके मुकाबले चलाने में ऑटोमैटिक यकीनन ज़्यादा मज़ेदार है.

56ue2d5s

कार के सस्पेंशन और ट्यूनिंग पर बढ़िया काम किया गया है. 

सफारी हैरियर से 75 किलोग्राम ज़्यादा भारी है, लंबी है, ऊंची है लेकिन अच्छी बात यह है कि इन चीज़ों का एहसास आपको बहुत कम होता है. बहुत तेज़ रफ्तार पर ही थोड़ा बॉडी रोल ही आपको परेशान करता है. कार के सस्पेंशन और ट्यूनिंग पर बढ़िया काम किया गया है और चाहे सड़कें अच्छी हों या ख़राब आपको इसकी सवारी से किसी तरह की शिकायत नही होगी. एक और बात जिस पर मैंने गौर किया कि इस आकार की कार के लिए टर्निंग रेडियस काफी अच्छा है, इसलिए शहर के ट्रैफिक और पार्किंग में आपको ज़्यादा परेशानी नहीं होनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: 2021 टाटा सफारी के बेस वेरिएंट XE की ताज़ा झलक दिखी, सामने आया केबिन

6iu67f34

कार में आल-व्हील ड्राइव तो नही हैं लेकिन इसके ईएसपी सिस्टम को वेट और रफ रोड मोड दिए गए हैं. 

लैंड रोवर का डीएनए यहां कई तरीकों से किरदार निभा रहा है और इसलिए टाटा का कहना है कि कार ऑल-व्हील ड्राइव न मिलने का बाद भी चुनौतीपूर्ण राहों पर चल लेती है. यहां तीन ड्राइविंग मोड दिए गए हैं और आप इनको अपनी ज़रूरत के हिसाब से चुन सकते हैं. यह हैं सिटी, स्पोर्ट और ईको, इनमें ईको बेहतर माईलेज देता है और स्पोर्ट ज़्यादा बढ़िया पर्फोर्मेंस. कार में आल-व्हील ड्राइव तो नही हैं लेकिन इसके ईएसपी सिस्टम को वेट और रफ रोड मोड दिए गए हैं जिनकी वजह से टूटी-फूटी या गीली सड़कों पर चलने में सफारी को कोई परेशानी नही होती है.

सुरक्षा

94c1nr0k

डिस्क ब्रेक, हिल होल्ड कंट्रोल और ट्रैक्शन कंट्रोल हर वेरिएंट में आते हैं.

सुरक्षा फीचर्स की सूची यहां लंबी है. ईएसपी या इलेक्ट्रॉनिक स्टेब्लिटी प्रोगराम के साथ दो एयरबैग, एबीएस, सभी पहियों पर डिस्क ब्रेक, हिल होल्ड कंट्रोल और ट्रैक्शन कंट्रोल हर वेरिएंट में आते हैं. वहीं 6 एयरबैग, हिल डिसेंट कंट्रोल और ISOFIX चाइल्ड सीट माउंट्स केवल सबसे महंगे मॉडल पर पाए जा सकते हैं. इसके अलावा आपको टायर प्रेशर मॉनिटरिंग सिस्टम, क्रूज़ कंट्रोल और रिवर्स पार्किंग कैमरा भी मिलते हैं.

फैसला

rboilo54

कार की बुकिंग 4 फरवरी से रु 30,000 में शुरू होगी.  

0 Comments

नई टाटा सफारी बेहद पसंद आने वाली कार है जो पुराने ज़माने की याद दिलाने के साथ-साथ कई आधुनिक फीचर्स के साथ आती है. शुरू से ही ऑटोमैटिक गियरब़क्स देना एक सराहनीय कदम है और यह बाज़ार में खरीदारों की पहली पसंद बन सकता है. कार की बुकिंग 4 फरवरी से रु 30,000 में शुरू होगी. हम अभी भी यह जानने के लिए इंतजार कर रहे हैं कि कीमतों का ऐलान कब होगा. टाटा कीमतों को हैरियर के जिनता करीब रखे उतना अच्छा होगा, जो रु 13.99 लाख से शुरू होती है और रु 19.05 लाख (एक्स-शोरूम) तक जाती है. मुकाबला एमजी हेक्टर प्लस डीज़ल से होगा जिसकी कीमत रु 13.66 और रु 19.13 लाख के बीच है, जबकि इनोवा क्रिस्टा डीज़ल से भी टक्कर लेनी होगी जिसकी कीमतें रु 16.64 लाख से लेकर रु 24.33 लाख तक हैं.

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

नाइ कार मॉडल्स

Be the first one to comment
Thanks for the comments.