carandbike logo

महिंद्रा अगले तीन साल इलेक्ट्रिक वाहन व्यापार में निवेश करेगी ₹ 3,000 करोड़

language dropdown

इस खबर की आधिकारिक पुष्टि के लिए हमने महिंद्रा से संपर्क किया है, लेकिन अबतक हमारे ईमेल का कोई जवाब कंपनी द्वारा नहीं दिया गया है. पढ़ें पूरी खबर...

महिंद्रा अगले तीन साल इलेक्ट्रिक वाहन व्यापार में निवेश करेगी ₹ 3,000 करोड़ expand फोटो देखें

भारत की वाहन निर्माता महिंद्रा एंड महिंद्रा ने इलेक्ट्रिक वाहन के व्यापार में रु 3,000 करोड़ निवेश करने की नीति बनाई है. पीटीआई की एक रिपोर्ट के अनुसार भारतीय यूटिलिटी वाहन निर्माता अगले तीन साल तक इलेक्ट्रिक वाहन व्यापार में यह निवेश करेगी, वहीं कंपनी इस काम में और भी कई साझेदारों की तलाश में है. कंपनी ने इससे पहले अगले पांच साल तक ऑटो और फार्म सैक्टर में रु 9,000 करोड़ के निवेश की घोषणा की थी. इस बात की आधिकारिक पुष्टि के लिए हमने कंपनी से संपर्क किया है, लेकिन अबतक हमारे ईमेल का कोई जवाब कंपनी द्वारा नहीं दिया गया है.

mjr0mvfcरु 3,000 करोड़ के निवेश का इस्तेमाल अलग-अलग उद्देश्यों में किया जाएगा

महिंद्रा एंड महिंद्रा का कहना है कि रु 3,000 करोड़ के निवेश का इस्तेमाल अलग-अलग उद्देश्यों में किया जाएगा, इनमें नए प्लैटफॉर्म को तैयार करना शामिल है जिसपर भविश्य में कई सारे वाहन बनाए जाएंगे. वाहन निर्माता ने लक्ष्य रखा है कि 2025 तक भारत में 5 लाख इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन करना है. इसे पाने के लिए कंपनी ने पहले ही रु 500 करोड़ का निवेश कर दिया है जिसके तहत नए इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए बेंगलुरु एयरपोर्ट के नज़दीक तकनीकी एवं आर एंड डी सेंटर खोला जाएगा.

ये भी पढ़ें : महिंद्रा थार ने पार किया 50,000 बुकिंग का आंकड़ा, मिल रही 5 महीने की वेटिंग

इसके अलावा कंपनी ने अलग से रु 500 करोड़ का निवेश चाकन प्लांट में भी किया है जिसमें आगामी इलेक्ट्रिक वाहनों का उत्पादन शामिल है जिनमें eKUV100 और एस201 इलेक्ट्रिक एसयूवी आती हैं. कंपनी चाकन प्लांट में इलेक्ट्रिक वाहनों में इस्तेमाल की जाने वाली हाई वोल्टेज बैटरी पैक का उत्पादन भी करेगी, वहीं कम क्षमता वाले बैटरी पैक का उत्पादन बेंगलुरु में किया जाएगा.

14f78u94आगामी इलेक्ट्रिक वाहनों में ईकेयूवी100 और एस201 इलेक्ट्रिक एसयूवी आती हैं

महिंद्रा ग्रूप के नए मैनेजिंग डायरेक्टर और सीईओ, अनीष शाह ने पीटीआई से कहा कि, “तो, इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए हम अलग से रु 3,000 करोड़ का निवेश करने वाले हैं जैसा हमने कहा था.” उन्होंने आगे कहा कि, “इसका इस्तेमाल कई तरह के काम में किया जाएगा जिनमें नए प्लैटफॉर्म का निर्माण आता है, यह कई तरह के रोल निभाएगा और इसे ग्रूप की विभिन्न क्षमताओं को मिलाकर तैयार किया जाएगा. हमारे ग्रूप में कई तरह की क्षमताएं हैं. हमारी क्षमताएं डेट्रॉइट में भी हैं... हमारी क्षमताएं ऑटोमोबिली पिनइन्फरीना और हमारे फॉर्मूला ई में भी है.”

ये भी पढ़ें : नई XUV700 के लॉन्च के साथ महिंद्रा रोक देगी मौजूदा XUV500 का उत्पादन

0 Comments

महिंद्रा एंड महिंद्रा द्वारा साझेदारी को लेकर पूछे गए सवाल के जवाब में अनीष शाह ने कहा कि, “हम पहले से एक कंपनी के साथ साझेदारी में हैं. हमने आरईई ऑटोमोटिव के साथ एमओयू पर दस्तख़त किए हैं जो एक इज़रायली कंपनी है. यह छोटे आकार के ट्रक और कमर्शियल वाहनों के लिए है. और हमारे ईवी व्यापार में भी कई साझेदार हैं. तो हम साझेदारी के लिए बिल्कुल तैयार हैं, लेकिन फिलहाल यह भविष्य के लिए है.”

आप जिसमें इंटरेस्टेड हो

Be the first one to comment
Thanks for the comments.